Advertisements

aayushman card Kaise banaye 2023, आयुष्मान कार्ड किस तरह बनाएं:

aayushman card Kaise banaye, नमस्कार मित्रों आप सभी लोगों का स्वागत है हमारे इस आर्टिकल में आज हम अपने इस पेज के माध्यम से आप सभी लोगों को एक बेहद ही महत्वपूर्ण खबर की जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं आज हम अपने इस पेज के माध्यम से आप सभी लोगों को आयुष्मान कार्ड से संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं मित्रों जैसा कि आपको पता ही होगा कि सरकार के द्वारा चलाया जाने वाला योजनाओं में से एक बेहद महत्वपूर्ण योजना है आयुष्मान कार्ड योजना, इस आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत आप लोग किसी भी बीमा से संबंधित या किसी दुर्घटना बस अस्पताल के खर्चों से मुक्ति पा सकते हैं जिसकी जानकारी हम आपको यहां विस्तारपूर्वक देने जा रहे हैं.

आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत आप सभी लोग केंद्र सरकार की ओर से चलाई जाने वाली इस कार्ड का लाभ लेकर बहुत सारे रोग का मुफ्त में इलाज करा सकते हैं जिसके तहत आप सभी लोगों को 500000 का बीमा प्रदान किया जाता है यह पूर्णत: सरकारी होता है इस कार्ड के माध्यम से आप सभी लोगों को सरकारी अस्पताल या प्राइवेट अस्पतालों में पांच लाख रुपए का मुफ्त इलाज कराया जाता है जिसे सभी नागरिकों को बनाना चाहिए हालांकि सरकार समय-समय पर इसके लिए लोगों को जागरूक भी कर रही है और मुफ्त में आयुष्मान कार्ड बनाने का जागरूकता भी फैला रही है जिससे कि लोग इसका लाभ ले सके.

Advertisements

aayushman card 2023

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2018 के अपने स्वतंत्रता दिवस भाषण में पीएम जेएआई आयुष्मान भारत योजना के शुभारंभ की घोषणा की, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित एक प्रमुख राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है इसमें गरीब परिवार यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवार किसी भी निजी या सरकारी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का प्रतिवर्ष निशुल्क इलाज करा सकते हैं प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की गई है वर्तमान समय में 10 करोड़ से अधिक परिवार इस योजना के तहत स्वास्थ्य कार्ड बनाकर लाभ प्राप्त कर रहे हैं परिवार के मुख्य सदस्य का कार्ड बने होने पर परिवार का कोई भी सदस्य इलाज करवा सकता है.

यह आयुष्मान कार्ड गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले तथा मध्यम वर्ग के लोगों यानी आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए बनाता है 18 वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों का कार्ड बनता है किसी भी वर्ग समुदाय के लोग इसमें आकर इसका लाभ प्राप्त कर सकते हैं प्रतिवर्ष ₹500000 तक का निशुल्क इलाज करवा सकते हैं इस कार्ड के माध्यम से.

लाभार्थी इस प्रकार बना सकते हैं इस मान कार्ड

आप सभी को हम बताने वाले हैं कि नया आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए आप सभी को नीचे दिए गए महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से आप बना सकते हैं। नया आयुष्मान कार्ड बनाने जनसेवा केंद्र से संपर्क करना होगा यार नहीं तो आप सभी के ब्लॉक तथा पंचायत मिश्रा कैंप लगाया गया है। इसकी मदद से आप अपना नया आयुष्मान कार्ड बना सकते हैं। अगर आपने दिया इस मान कार्ड बनवा रखा है और आसमान कार्ड का पैसा जो निकालने के लिए कर आवेदन करना पहले आपको आयुष्मान भारत कार्ड योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा

अगर आप भी आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत अपना आवेदन करना चाहते हैं तो आप अपना आवेदन इसकी आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से, तो अपने नजदीकी सीएससी सेंटर तथा कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर इसकी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं साथ ही साथ यह जानकार है वह ब्लॉक के भी माध्यम से बनाया जाना शुरु हो चुका है जिसे आप सभी बड़े ही आसानी तरीके से बना सकते हैंI आयुष्मान कार्ड को ब्लॉक के माध्यम से भी बनाना जाना शुरू है जिसे आप आसानी तरीके से बनवा सकते हैं।.

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना

केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना लांच की गई है इस योजना के माध्यम से गरीबी रेखा से नीचे जीने वाले लोगों को प्रति वर्ष के रूप में आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराया जाता है योजना के सभी लाभार्थी को सरकारी अस्पतालों या प्राइवेट अस्पतालों में ₹500000 तक का मुफ्त इलाज कराया जाता है यह योजना देश के नागरिकों के स्वास्थ्य में सुधार लाने में कारागार साबित होगी इस योजना को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी के द्वारा 13 सितंबर 2018 को लांच किया गया था सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत देश के 40 करोड़ से अधिक नागरिकों को कवर किया गया है.

आयुष्मान भारत योजना 2023 का बढ़ाया जाएगा दायरा

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने यह सूचना प्रदान की है कि केंद्र सरकार आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 2023 वी के विस्तार पर विचार कर रही है और इस योजना की हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम दायरे को बढ़ाने एवं नए लाभार्थी को बहुत ही कम प्रीमियम पर योजना से जुड़ने पर विचार किया जा रहा है अधिकारी ने यह भी जानकारी प्रदान की है उन्होंने बताया है कि मिडिल क्लास इनकम ग्रुप को आयुष्मान भारत योजना से जुड़ने पर विचार किया जा रहा है क्योंकि इस वर्ग के लोग ना तो अमीर है और ना ही गरीब है और इस वर्ग के अधिकतर लोगों के पास कोई हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम का कवर नहीं होता है इसलिए इस वर्क का एक बड़ा हिस्सा ऐसा है जिस पर सरकार को ध्यान देने की आवश्यकता है इसलिए आप इस योजना के तहत लाभार्थी की लिस्ट का दायरा बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है.

जिस पर केंद्र सरकार एवं अधिकारियों के द्वारा बैठक हो रही है और गंभीरता से इस विषय पर चर्चा किया जा रहा है आशा यह लगाया जा रहा है कि इस स्कीम को और भी बढ़ाया जा सकता है बम जल्द से जल्द इस स्कीम को और भी अधिक विस्तार पूर्वक बढ़ाकर हर राज्य में जारी कर दिया जाएगा ताकि सभी राज्य के लोग इसका लाभ ले सके.

Advertisements

Ayushman Bharat Mobile Application Kaise Use Kare?

Ayushman Bharat Mobile App को इस्तेमाल करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाना है |

  • यहां पर जाने के बाद आपको सर्च बार पर चेक करना है और Ayushman Bharat Mobile App लिखकर सर्च करना है |
  • जैसे ही आप सर्च करेंगे आपके सामने आयुष्मान भारत योजना एप्लीकेशन ओपन हो जाएगी|
  • आपको यहां से इसे डाउनलोड कर लेना है वह इसके बाद इंस्टॉल होने देना है |
  • जैसे ही यह ऐप इंस्टॉल हो जाएगी आपको इसे ओपन कर लेना है |
  • जब आप इसे ओपन करेंगे तो आपके सामने एक लॉगिन बॉक्स ओपन होगा जिसमें आपको सबसे पहले अपना मोबाइल नंबर डालना है |
  • इसके बाद कैप्चा कोड को फील करना है, और ओटीपी के माध्यम से लॉगइन करना है |
  • यदि आप आयुष्मान भारत योजना के लिए पंजीकरण नहीं है तो इसके लिए आपको न्यू रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करना है |
  • अब आपके सामने आयुष्मान भारत योजना पंजीकरण फॉर्म ओपन हो जाएगा जिसमें जो भी जानकारी आप से मांगी जाती है
  • वह सारी आपको फिल अप करना है |
  • इस प्रकार आप Ayushman Bharat Mobile Application Use कर सकते हैं|

Eligibility check online 2023

यदि आप आयुष्मान भारत योजना हॉस्पिटल कार्ड बनवाना चाहते हैं और सरकार द्वारा प्रदान की जा रही सभी सुविधाओं का लाभ उठाना चाहते हैं या गरीब परिवारों को प्रदान किया जा रहे स्वास्थ्य बीमा का लाभ भर्ती होना चाहते हैं तो आपको उसके लिए सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना को जानना जरूरी होगा उसके बाद ही आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं चलिए हम आपको बताते हैं कि आप कैसे अपने मोबाइल और लैपटॉप की सहायता से अपनी पात्रता को जान सकते हैं

  • सर्वप्रथम आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा
  • जब आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आते हैं तो आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा
  • जिसमें आपको एक Am I Eligible का ऑप्शन मिलेगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा
  • फिर आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा जहां पर आपको लॉगिन का ऑप्शन दिखाई देगा आपको अपना मोबाइल
  • नंबर और कैप्चा फिल करके जेनरेट ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा
  • जैसे याद है ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक कर देते हैं आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा और आपको वह ओटीपी यहां भर देना होगा
  • जैसे ही आप उस ओटीपी को यहां भर देते हैं तो आप इसमें लॉगिन हो जाता है
  • अब आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा जिसमें आपको दो बॉक्स दिखाई देंगे इसमें आपको अपने राज्य को त्याग करना होगा
  • और इसके नीचे आपको एक बॉक्स दिखाई देगा जिसमें आपको काफी सारे विकल्प दिखाई देंगे जैसे नाम नंबर राशन कार्ड इन सभी को भर देना होगा
  • किसी एक ऑप्शन को सिलेक्ट करने के बाद उसमें पूछी गई सभी जानकारी को भर देना है
  • जैसे ही आप उसमें पूछी गई सभी जानकारी को दर्ज करते हैं तो आपके सामने आपका स्टेटस ओपन हो जाता है
  • जिसमें आपको यह पता लगता है कि आप आयुष्मान भारत योजना के योग्य है या नहीं.

ट्रांसजेंडरों को भी प्रदान किया जाएगा का लाभ

देश के 4.80 लाख पंजीकृत ट्रांसजेंडरों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयुष्मान भारत योजना 2023 के तहत ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने का फैसला लिया है। इस मुद्दे पर 24 अगस्त 2022 बुधवार के दिन नेशनल हेल्थ अथॉरिटी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इस समझौते के अनुसार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा ट्रांसजेंडरों के स्वास्थ्य बीमा पर आने वाले खर्चे को वहन किया जाएगा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा पंजीकृत 4.80 लाख ट्रांसजेंडरों की सूची को आयुष्मान भारत योजना में शामिल कर लिया गया है। जिससे अब ट्रांसजेंडर सीधे नेशनल हेल्थ अथॉरिटी से अपना आयुष्मान भारत कार्ड बनवा सकेंगे।

अगर कोई ट्रांसजेंडर सामाजिक न्याय मंत्रालय के तहत पंजीकृत नहीं है और वह पीएमजेएवाई का लाभ लेना चाहता है उसे पहले सामाजिक न्याय मंत्रालय में अपना नाम पंजीकरण करवाना होगा‌। उसके बाद उसका नाम स्वत ही नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के पास पहुंच जाएगा।

लांच किया गया नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज

नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के माध्यम से वर्ष 2022 के लिए एक नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज लांच करने की घोषणा की गई है। यह हेल्थ बेनिफिट पैकेज Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत लांच किया जाएगा। इस पैकेज के अंतर्गत स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 265 नए प्रोसीजर लांच किए गए हैं। अब इस योजना के माध्यम से कुल 1949 प्रोसीजर कवर किए जाएंगे। इस पैकेज को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में आयोजित रिव्यू मीटिंग के दौरान लांच किया गया है।

Advertisements

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा यह भी जानकारी प्रदान की गई है कि स्वास्थ्य लाभ पैकेज 2022 के साथ शहर के प्रकार और देखभाल के स्तर के आधार पर भी योजना के अंतर्गत मूल्य निर्धारण किया जाएगा। इस अवसर पर मंत्रालय द्वारा इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ़ डिजीज एवं इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ हेल्थ इंटरवेंशन आरंभ करने की भी घोषणा की गई है। इसके अलावा डायग्नोसिस रिलेटेड ग्रुपिंग भी करने की घोषणा की गई है।

Paytm App पर PM-JAY का फीचर किया गया शामिल

हाल ही में पेटीएम एप पर आयुष्मान भारत योजना का फीचर शामिल किया गया है। डिजिटल पेमेंट एवं वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम की मालिक वन‌ 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड ने पेटीएम एप पर प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना को जोड़ दिया है। यानी अब इस नई पहल से Paytm App के यूजर्स PMJAY 2023 का लाभ उठा सकते हैं। यूजर्स इस योजना के लिए अपनी पात्रता की जांच कर सकते हैं और अपने नजदीकी निजी एवं सरकारी अस्पतालों के बारे में जान सकते हैं। पेटीएम की यह पहल हेल्थ सेक्टर में डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है.

आयुष्मान सीएपीएफ योजना के अंतर्गत प्रदान किए गए 35 लाख कार्ड

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सीएपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों को लगभग 35 लाख आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड प्रदान की गई है सीएपीएफ कर्मी एवं उनके परिवार देश के 24000 अस्पतालों से कैशलेस उपचार का लाभ प्राप्त कर सकते हैं केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय द्वारा 5 जनवरी 2022 को प्रदान की गई है केंद्रीय सशस्त्र पुलिस जैसे कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, आइटीबीपी, सीआईएसएफ, आदि के प्रत्येक कर्मी के लिए खर्च की गई भी सीमा नहीं होगी असम राइफल एवं एनएसजी को छोड़कर.

  • यह स्कीम सीआरपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवार के लिए अच्छी स्वास्थ्य बस सुनिश्चित करेगी इस योजना के माध्यम से 24000 अस्पतालों के माध्यम से कैशलेस चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है
  • आयुष्मान सीआरपीएफ योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का एक भाग है जिससे हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जारी किया गया था केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पिछले वर्ष 23 जनवरी को गुवाहाटी मैं अर्धसैनिक बलों के जवानों और उनके परिवारों के लिए इस योजना का उद्घाटन किया गया था.

आयुष्मान कार्ड के पैसा कैसे चेक और निकालने की प्रक्रिया?

अगर आपने दिया इस मान कार्ड बनवा रखा है और आसमान कार्ड का पैसा जो निकालने के लिए कर आवेदन करना पहले आपको आयुष्मान भारत कार्ड योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगाI पेटीएम App पर PM-JAY का फीचर किया गया शामिल हाल ही में पेटीएम एप पर आयुष्मान भारत योजना का फीचर शामिल किया गया है। डिजिटल पेमेंट एवं वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम की मालिक वन‌ 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड ने पेटीएम एप पर प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना को जोड़ दिया है। यानी अब इस नई पहल से Paytm App के यूजर्स PMJAY 2022 का लाभ उठा सकते हैं।

यूजर्स इस योजना के लिए अपनी पात्रता की जांच कर सकते हैं और अपने नजदीकी निजी एवं सरकारी अस्पतालों के बारे में जान सकते हैं। पेटीएम की यह पहल हेल्थ सेक्टर में डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है।आयुष्मान का पैसा कितने दिन में आता है? जैसा की आप सभी को पता ही है कि आसमान का के जितने भी कार्ड धारक हैं उनके बैंक खाते में पैसा आना शुरू हो चुके हैं और सभी लोग काफी लंबे समय से परेशान थे कि आखिर आयुष्मान कार्ड का जो पैसा अब तक क्यों नहीं आया हम अपने से दूर कैसे निकाल सकते जिसे आप आसानी से निकाल सकते हैं।

Advertisements

आयुष्मान कार्ड के तहत प्रदान किए जाने वाले राशि

आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रदान किए गए 35 लाख कार्ड इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सीएपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों को लगभग 35 लाख आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए गए हैं। सभी सीएपीएफ कर्मी एवं उनके परिवार देश के 24000 अस्पतालों से कैशलेस उपचार का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय द्वारा 5 जनवरी 2022 को प्रदान की गई। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल जैसे कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ आदि के प्रत्येक कर्मी के लिए खर्च की कोई भी सीमा नहीं होगी। असम राइफल एवं एनएसजी को छोड़कर। यह योजना सीआरपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों के लिए अच्छी स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करेगी। इस योजना के माध्यम से 24000 चैनलबद्ध अस्पतालों के माध्यम से कैशलेस चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है.

aayushman card Kaise banaye, नमस्कार मित्रों आप सभी लोगों का स्वागत है हमारे इस आर्टिकल में आज हम अपने इस पेज के माध्यम से आप सभी लोगों को एक बेहद ही महत्वपूर्ण खबर की जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं आज हम अपने इस पेज के माध्यम से आप सभी लोगों को आयुष्मान कार्ड से संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं मित्रों जैसा कि आपको पता ही होगा कि सरकार के द्वारा चलाया जाने वाला योजनाओं में से एक बेहद महत्वपूर्ण योजना है आयुष्मान कार्ड योजना, इस आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत आप लोग किसी भी बीमा से संबंधित या किसी दुर्घटना बस अस्पताल के खर्चों से मुक्ति पा सकते हैं जिसकी जानकारी हम आपको यहां विस्तारपूर्वक देने जा रहे हैं.

आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत आप सभी लोग केंद्र सरकार की ओर से चलाई जाने वाली इस कार्ड का लाभ लेकर बहुत सारे रोग का मुफ्त में इलाज करा सकते हैं जिसके तहत आप सभी लोगों को 500000 का बीमा प्रदान किया जाता है यह पूर्णत: सरकारी होता है इस कार्ड के माध्यम से आप सभी लोगों को सरकारी अस्पताल या प्राइवेट अस्पतालों में पांच लाख रुपए का मुफ्त इलाज कराया जाता है जिसे सभी नागरिकों को बनाना चाहिए हालांकि सरकार समय-समय पर इसके लिए लोगों को जागरूक भी कर रही है और मुफ्त में आयुष्मान कार्ड बनाने का जागरूकता भी फैला रही है जिससे कि लोग इसका लाभ ले सके.

aayushman card 2023

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2018 के अपने स्वतंत्रता दिवस भाषण में पीएम जेएआई आयुष्मान भारत योजना के शुभारंभ की घोषणा की, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भारत सरकार द्वारा वित्त पोषित एक प्रमुख राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है इसमें गरीब परिवार यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवार किसी भी निजी या सरकारी अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का प्रतिवर्ष निशुल्क इलाज करा सकते हैं प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की गई है वर्तमान समय में 10 करोड़ से अधिक परिवार इस योजना के तहत स्वास्थ्य कार्ड बनाकर लाभ प्राप्त कर रहे हैं परिवार के मुख्य सदस्य का कार्ड बने होने पर परिवार का कोई भी सदस्य इलाज करवा सकता है.

यह आयुष्मान कार्ड गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले तथा मध्यम वर्ग के लोगों यानी आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए बनाता है 18 वर्ष से अधिक की उम्र के लोगों का कार्ड बनता है किसी भी वर्ग समुदाय के लोग इसमें आकर इसका लाभ प्राप्त कर सकते हैं प्रतिवर्ष ₹500000 तक का निशुल्क इलाज करवा सकते हैं इस कार्ड के माध्यम से.

लाभार्थी इस प्रकार बना सकते हैं इस मान कार्ड

आप सभी को हम बताने वाले हैं कि नया आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए आप सभी को नीचे दिए गए महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से आप बना सकते हैं। नया आयुष्मान कार्ड बनाने जनसेवा केंद्र से संपर्क करना होगा यार नहीं तो आप सभी के ब्लॉक तथा पंचायत मिश्रा कैंप लगाया गया है। इसकी मदद से आप अपना नया आयुष्मान कार्ड बना सकते हैं। अगर आपने दिया इस मान कार्ड बनवा रखा है और आसमान कार्ड का पैसा जो निकालने के लिए कर आवेदन करना पहले आपको आयुष्मान भारत कार्ड योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा

अगर आप भी आयुष्मान कार्ड योजना के अंतर्गत अपना आवेदन करना चाहते हैं तो आप अपना आवेदन इसकी आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से, तो अपने नजदीकी सीएससी सेंटर तथा कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर इसकी जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं साथ ही साथ यह जानकार है वह ब्लॉक के भी माध्यम से बनाया जाना शुरु हो चुका है जिसे आप सभी बड़े ही आसानी तरीके से बना सकते हैंI आयुष्मान कार्ड को ब्लॉक के माध्यम से भी बनाना जाना शुरू है जिसे आप आसानी तरीके से बनवा सकते हैं।.

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना

केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना लांच की गई है इस योजना के माध्यम से गरीबी रेखा से नीचे जीने वाले लोगों को प्रति वर्ष के रूप में आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराया जाता है योजना के सभी लाभार्थी को सरकारी अस्पतालों या प्राइवेट अस्पतालों में ₹500000 तक का मुफ्त इलाज कराया जाता है यह योजना देश के नागरिकों के स्वास्थ्य में सुधार लाने में कारागार साबित होगी इस योजना को हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी के द्वारा 13 सितंबर 2018 को लांच किया गया था सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत देश के 40 करोड़ से अधिक नागरिकों को कवर किया गया है.

आयुष्मान भारत योजना 2023 का बढ़ाया जाएगा दायरा

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने यह सूचना प्रदान की है कि केंद्र सरकार आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 2023 वी के विस्तार पर विचार कर रही है और इस योजना की हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम दायरे को बढ़ाने एवं नए लाभार्थी को बहुत ही कम प्रीमियम पर योजना से जुड़ने पर विचार किया जा रहा है अधिकारी ने यह भी जानकारी प्रदान की है उन्होंने बताया है कि मिडिल क्लास इनकम ग्रुप को आयुष्मान भारत योजना से जुड़ने पर विचार किया जा रहा है क्योंकि इस वर्ग के लोग ना तो अमीर है और ना ही गरीब है और इस वर्ग के अधिकतर लोगों के पास कोई हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम का कवर नहीं होता है इसलिए इस वर्क का एक बड़ा हिस्सा ऐसा है जिस पर सरकार को ध्यान देने की आवश्यकता है इसलिए आप इस योजना के तहत लाभार्थी की लिस्ट का दायरा बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है.

जिस पर केंद्र सरकार एवं अधिकारियों के द्वारा बैठक हो रही है और गंभीरता से इस विषय पर चर्चा किया जा रहा है आशा यह लगाया जा रहा है कि इस स्कीम को और भी बढ़ाया जा सकता है बम जल्द से जल्द इस स्कीम को और भी अधिक विस्तार पूर्वक बढ़ाकर हर राज्य में जारी कर दिया जाएगा ताकि सभी राज्य के लोग इसका लाभ ले सके.

Ayushman Bharat Mobile Application Kaise Use Kare?

Ayushman Bharat Mobile App को इस्तेमाल करने के लिए आपको सबसे पहले अपने मोबाइल के गूगल प्ले स्टोर पर जाना है |
यहां पर जाने के बाद आपको सर्च बार पर चेक करना है और Ayushman Bharat Mobile App लिखकर सर्च करना है |
जैसे ही आप सर्च करेंगे आपके सामने आयुष्मान भारत योजना एप्लीकेशन ओपन हो जाएगी|
आपको यहां से इसे डाउनलोड कर लेना है वह इसके बाद इंस्टॉल होने देना है |
जैसे ही यह ऐप इंस्टॉल हो जाएगी आपको इसे ओपन कर लेना है |
जब आप इसे ओपन करेंगे तो आपके सामने एक लॉगिन बॉक्स ओपन होगा जिसमें आपको सबसे पहले अपना मोबाइल नंबर डालना है |
इसके बाद कैप्चा कोड को फील करना है, और ओटीपी के माध्यम से लॉगइन करना है |
यदि आप आयुष्मान भारत योजना के लिए पंजीकरण नहीं है तो इसके लिए आपको न्यू रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करना है |
अब आपके सामने आयुष्मान भारत योजना पंजीकरण फॉर्म ओपन हो जाएगा जिसमें जो भी जानकारी आप से मांगी जाती है वह सारी आपको फिल अप करना है |
इस प्रकार आप Ayushman Bharat Mobile Application Use कर सकते हैं|

Eligibility check online 2023

यदि आप आयुष्मान भारत योजना हॉस्पिटल कार्ड बनवाना चाहते हैं और सरकार द्वारा प्रदान की जा रही सभी सुविधाओं का लाभ उठाना चाहते हैं या गरीब परिवारों को प्रदान किया जा रहे स्वास्थ्य बीमा का लाभ भर्ती होना चाहते हैं तो आपको उसके लिए सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना को जानना जरूरी होगा उसके बाद ही आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं चलिए हम आपको बताते हैं कि आप कैसे अपने मोबाइल और लैपटॉप की सहायता से अपनी पात्रता को जान सकते हैं

सर्वप्रथम आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा
जब आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आते हैं तो आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा
जिसमें आपको एक Am I Eligible का ऑप्शन मिलेगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा
फिर आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा जहां पर आपको लॉगिन का ऑप्शन दिखाई देगा आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा फिल करके जेनरेट ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक कर देना होगा
जैसे याद है ओटीपी के ऑप्शन पर क्लिक कर देते हैं आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा और आपको वह ओटीपी यहां भर देना होगा
जैसे ही आप उस ओटीपी को यहां भर देते हैं तो आप इसमें लॉगिन हो जाता है
अब आपके सामने एक नया पेज ओपन हो जाएगा जिसमें आपको दो बॉक्स दिखाई देंगे इसमें आपको अपने राज्य को त्याग करना होगा
और इसके नीचे आपको एक बॉक्स दिखाई देगा जिसमें आपको काफी सारे विकल्प दिखाई देंगे जैसे नाम नंबर राशन कार्ड इन सभी को भर देना होगा

किसी एक ऑप्शन को सिलेक्ट करने के बाद उसमें पूछी गई सभी जानकारी को भर देना है
जैसे ही आप उसमें पूछी गई सभी जानकारी को दर्ज करते हैं तो आपके सामने आपका स्टेटस ओपन हो जाता है
जिसमें आपको यह पता लगता है कि आप आयुष्मान भारत योजना के योग्य है या नहीं.

ट्रांसजेंडरों को भी प्रदान किया जाएगा का लाभ

देश के 4.80 लाख पंजीकृत ट्रांसजेंडरों को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आयुष्मान भारत योजना 2023 के तहत ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने का फैसला लिया है। इस मुद्दे पर 24 अगस्त 2022 बुधवार के दिन नेशनल हेल्थ अथॉरिटी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इस समझौते के अनुसार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा ट्रांसजेंडरों के स्वास्थ्य बीमा पर आने वाले खर्चे को वहन किया जाएगा। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा पंजीकृत 4.80 लाख ट्रांसजेंडरों की सूची को आयुष्मान भारत योजना में शामिल कर लिया गया है। जिससे अब ट्रांसजेंडर सीधे नेशनल हेल्थ अथॉरिटी से अपना आयुष्मान भारत कार्ड बनवा सकेंगे।

अगर कोई ट्रांसजेंडर सामाजिक न्याय मंत्रालय के तहत पंजीकृत नहीं है और वह पीएमजेएवाई का लाभ लेना चाहता है उसे पहले सामाजिक न्याय मंत्रालय में अपना नाम पंजीकरण करवाना होगा‌। उसके बाद उसका नाम स्वत ही नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के पास पहुंच जाएगा।


लांच किया गया नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज


नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के माध्यम से वर्ष 2022 के लिए एक नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज लांच करने की घोषणा की गई है। यह हेल्थ बेनिफिट पैकेज Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत लांच किया जाएगा। इस पैकेज के अंतर्गत स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 265 नए प्रोसीजर लांच किए गए हैं। अब इस योजना के माध्यम से कुल 1949 प्रोसीजर कवर किए जाएंगे। इस पैकेज को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में आयोजित रिव्यू मीटिंग के दौरान लांच किया गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा यह भी जानकारी प्रदान की गई है कि स्वास्थ्य लाभ पैकेज 2022 के साथ शहर के प्रकार और देखभाल के स्तर के आधार पर भी योजना के अंतर्गत मूल्य निर्धारण किया जाएगा। इस अवसर पर मंत्रालय द्वारा इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ़ डिजीज एवं इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ हेल्थ इंटरवेंशन आरंभ करने की भी घोषणा की गई है। इसके अलावा डायग्नोसिस रिलेटेड ग्रुपिंग भी करने की घोषणा की गई है।


Paytm App पर PM-JAY का फीचर किया गया शामिल

हाल ही में पेटीएम एप पर आयुष्मान भारत योजना का फीचर शामिल किया गया है। डिजिटल पेमेंट एवं वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम की मालिक वन‌ 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड ने पेटीएम एप पर प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना को जोड़ दिया है। यानी अब इस नई पहल से Paytm App के यूजर्स PMJAY 2023 का लाभ उठा सकते हैं। यूजर्स इस योजना के लिए अपनी पात्रता की जांच कर सकते हैं और अपने नजदीकी निजी एवं सरकारी अस्पतालों के बारे में जान सकते हैं। पेटीएम की यह पहल हेल्थ सेक्टर में डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है.

आयुष्मान सीएपीएफ योजना के अंतर्गत प्रदान किए गए 35 लाख कार्ड

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सीएपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों को लगभग 35 लाख आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड प्रदान की गई है सीएपीएफ कर्मी एवं उनके परिवार देश के 24000 अस्पतालों से कैशलेस उपचार का लाभ प्राप्त कर सकते हैं केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय द्वारा 5 जनवरी 2022 को प्रदान की गई है केंद्रीय सशस्त्र पुलिस जैसे कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, आइटीबीपी, सीआईएसएफ, आदि के प्रत्येक कर्मी के लिए खर्च की गई भी सीमा नहीं होगी असम राइफल एवं एनएसजी को छोड़कर.

यह स्कीम सीआरपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवार के लिए अच्छी स्वास्थ्य बस सुनिश्चित करेगी इस योजना के माध्यम से 24000 अस्पतालों के माध्यम से कैशलेस चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है

आयुष्मान सीआरपीएफ योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का एक भाग है जिससे हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जारी किया गया था केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा पिछले वर्ष 23 जनवरी को गुवाहाटी मैं अर्धसैनिक बलों के जवानों और उनके परिवारों के लिए इस योजना का उद्घाटन किया गया था.

आयुष्मान कार्ड के पैसा कैसे चेक और निकालने की प्रक्रिया?

अगर आपने दिया इस मान कार्ड बनवा रखा है और आसमान कार्ड का पैसा जो निकालने के लिए कर आवेदन करना पहले आपको आयुष्मान भारत कार्ड योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगाI पेटीएम App पर PM-JAY का फीचर किया गया शामिल हाल ही में पेटीएम एप पर आयुष्मान भारत योजना का फीचर शामिल किया गया है। डिजिटल पेमेंट एवं वित्तीय सेवा कंपनी पेटीएम की मालिक वन‌ 97 कम्युनिकेशंस लिमिटेड ने पेटीएम एप पर प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना को जोड़ दिया है। यानी अब इस नई पहल से Paytm App के यूजर्स PMJAY 2022 का लाभ उठा सकते हैं।

यूजर्स इस योजना के लिए अपनी पात्रता की जांच कर सकते हैं और अपने नजदीकी निजी एवं सरकारी अस्पतालों के बारे में जान सकते हैं। पेटीएम की यह पहल हेल्थ सेक्टर में डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है।आयुष्मान का पैसा कितने दिन में आता है? जैसा की आप सभी को पता ही है कि आसमान का के जितने भी कार्ड धारक हैं उनके बैंक खाते में पैसा आना शुरू हो चुके हैं और सभी लोग काफी लंबे समय से परेशान थे कि आखिर आयुष्मान कार्ड का जो पैसा अब तक क्यों नहीं आया हम अपने से दूर कैसे निकाल सकते जिसे आप आसानी से निकाल सकते हैं।

आयुष्मान कार्ड के तहत प्रदान किए जाने वाले राशि

आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रदान किए गए 35 लाख कार्ड इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा सीएपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों को लगभग 35 लाख आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड प्रदान किए गए हैं। सभी सीएपीएफ कर्मी एवं उनके परिवार देश के 24000 अस्पतालों से कैशलेस उपचार का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय द्वारा 5 जनवरी 2022 को प्रदान की गई। केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल जैसे कि सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ आदि के प्रत्येक कर्मी के लिए खर्च की कोई भी सीमा नहीं होगी। असम राइफल एवं एनएसजी को छोड़कर। यह योजना सीआरपीएफ कर्मियों एवं उनके परिवारों के लिए अच्छी स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित करेगी। इस योजना के माध्यम से 24000 चैनलबद्ध अस्पतालों के माध्यम से कैशलेस चिकित्सा सुविधाओं का लाभ प्राप्त किया जा सकता है.

27112 कैंसर पीड़ित मरीजों का होगा उपचार

atal aayushman Yojana के माध्यम से उत्तराखंड में कैंसर जैसी बीमारी के मरीजों को निशुल्क इलाज किया जाएगा अब तक इस योजना के तहत 27112 कैंसर मरीजों का मुफ्त इलाज किया गया है जिसके लिए सरकार के द्वारा ₹500000000 की राशि खर्च की गई है अब तक इस योजना के तहत 44 लाख लाभार्थी को गोल्डन कार्ड बनवाया गया है जिनमें से 3.38 लाख नागरिकों को ₹500000 का मुफ्त इलाज की सुविधा दी गई है

इन सभी नागरिकों में से 27112 नागरिकों को कैंसर ग्रसित है इसके अलावा 1.33 लाख नागरिक को को द्वारा डायलिसिस भी करवाया गया है अब प्रदेश के नागरिक कैंसर जैसे महंगे इलाज का सुविधा उपचार नहीं कर पा रहे हैं तो उन सभी नागरिकों को सरकार के द्वारा इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा और उनका उपचार किया जाएगा 3.30 लाख से अधिक मरीजों का उपचार करवाने में 497 करोड रुपए खर्च किए गए हैं जिसमें कैंसर और डायलिसिस का उपचार लेने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक है।

300 करोड़ से भी अधिक प्रावधान

उत्तराखंड सरकार द्वारा 14 June 2022 को विधानसभा में वर्ष 2022-23 के लिए 65000 Crore से अधिक के बजट की पेशकश की गई है। जिसके माध्यम से बुजुर्ग, महिला और विकलांग नागरिकों को सशक्त बनाया जाएगा। इस budget के माध्यम से उत्तराखंड सरकार द्वारा अटल आयुष्मान योजना के अंतर्गत 311.76 crore रुपए प्रस्तावित किए गए हैं। इस योजना के माध्यम से राज्य के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाती है। जिसमें ₹500000 तक का निशुल्क इलाज शामिल है। यह योजना प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों के लिए आरंभ की गई है। वह सभी नागरिक जो बीमार होने की स्थिति में इलाज करवाना afford नहीं कर सकते उनको इस योजना के माध्यम से निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।

अटल आयुष्मान योजना 2023 रजिस्ट्रेशन

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत शामिल होना चाहते है उन्हें इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और योजना का लाभ उठा सकते है। इस अटल आयुष्मान योजना 2023 को आरम्भ किये हुए पूरा एक साल हो चूक है उत्तराखंड के मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि इस योजना के तहत अभी तक 1 लाख 10 हजार मरीजों का निशुल्क उपचार किया जा चुका है इस उपचार में 104.86 करोड रुपए का खर्च आया.

अटल आयुष्मान योजना 2023
का उद्देश्य

गरीब वर्ग के जो परिवार आर्थिक तंगी के चलते अपने बीमारी का इलाज नहीं करवा पाते है उनके लिए यह आयुष्मान भारत योजना काफी मददगार साबित हो रही है। इस योजना में लाभार्थी को सलाना पांच लाख का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है जो उसके परिवार के किसी भी सदस्य की बीमारी के खर्च को कवर करेंगा। इससे गरीब वर्ग के लोग भी अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं ले सकेंगे। और बीमारियों पर होने वाले खर्च से बच सकेंगे।

जैसा कि आप सभी जानते हैं उत्तराखंड राज्य में आज बहुत ही ऐसे लोग हैं जिनको गंभीर बीमारी होने के कारण आर्थिक रूप से कमजोर हो गए हैं और उनका अपना इलाज करवाना बहुत ही मुश्किल हो गया है इन सभी समस्याओं को कम करने के लिए राज्य सरकार ने राज्य के सभी लोगों के लिए अटल आयुष्मान योजना 2023 को आरंभ किया है इस योजना के माध्यम से आयुष्मान भारत योजना की तरह राज्य के सभी लोगों को अपने बीमारी का इलाज करवाने के लिए सरकार के द्वारा ₹500000 का निशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान किया जाएगा उत्तराखंड अटल आयुष्मान योजना 2022 के अंतर्गत राज्य के लोगों की आर्थिक रूप से मदद की जाएगी और परिवार में चाहे कितना भी सदस्य हो या महिला या पुरुष अपना इलाज आसानी से करवा सकते हैं।

आयुष्मान योजना गोल्डन कार्ड 2023

इस योजना के तहत ब्रेन ट्यूमर कैंसर गुर्दा रोग बाईपास सर्जरी न्यूरो इत्यादि जैसे सभी बीमारियों का इलाज आसानी से मुफ्त में सरकार के द्वारा किया जाएगा इस योजना के तहत सरकार के द्वारा ₹500000 का निशुल्क इलाज गोल्डन कार्ड के माध्यम से सभी नागरिकों को उपलब्ध होगा राज्य का हर मरीज अपने ही गोल्डन कार्ड पर इलाज करवा सकेंगे।

इस atal aayushman Yojana 2023 के तहत कोई भी अस्पताल मरीज को पिता पुत्र या किसी अन्य रिश्तेदार के कार्ड पर भर्ती नहीं किया जाएगा इस योजना के तहत आयुष्मान सोसायटी की ओर से राज्य में 25 जनवरी तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान के तहत 25 जनवरी तक अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं राज्य के गरीब लोग गोल्डन के बिना इस योजना के तहत सरकारी और निजी अस्पतालों में अपना इलाज नहीं करवा सकते.

आयुष्मान भारत योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण निर्देश जानकारी

जैसा कि आप सभी लोग यह जानते होंगे कि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इस्मान भारत कार्ड की स्थापना की गई थी
इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य देश के प्रत्येक नागरिक तक स्वास्थ्य सुविधा की उपलब्धता सुनिश्चित कराना है
इस ऐसे सरकार द्वारा 5 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा लाभार्थी को प्रदान किया जाता है
आयुष्मान भारत योजना का संचालन भारत के लगभग सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में किया जाता है
यहां हम आपको यह बता दें कि केवल पश्चिम बंगाल एनसीटी ऑफ दिल्ली एवं उड़ीसा में इस योजना का संचालन नहीं किया जाता है
इस योजना को दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना में शामिल की गई है
इस योजना का लाभ पूरे देश भर में प्रो टेबल है
इस योजना के माध्यम से लाभार्थी परिवार को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जाती है
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत केवल inpatient सेवाओं प्रदान करने वाले अस्पताल ही empanell है
जुलाई तक लगभग 23000 अस्पतालों को विभिन्न राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों की सरकार द्वारा योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा
सरकार द्वारा 1669 Procedure एवं 26 विभिन्न विशेषताएं के माध्यम से उपचार प्रदान किया जाएगा
इसके अलावा Chemotherapy, radio, therapy, oncology के साथ-साथ योजना के अंतर्गत कैंसर के उपचार भी प्रदान किया जाता है
भारत सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत उन सभी बच्चों को लाभ प्रदान किया जाएगा जिन्होंने अपने माता-पिता को कोविड-19 के कारण खो दिया हो
ऐसे सभी बच्चों को प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स फाउंड के माध्यम से किया जाने वाला है.

आरोग्य मंथन 3.0 का उद्घाटन

23 सितंबर को केंद्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडवीया आयुष्मान भारत योजना की तीसरी वर्षगांठ का उद्घाटन करेंगे जिसे आरोग्य मंथन 3.0 के रूप में माना जाएगा इस वर्ष गांठ को आयुष्मान भारत दिवस के रूप में भी जाना जाता है या मनाया जाता है राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार आरोग्य मंथन 3.0 को 23 सितंबर से लेकर 25 सितंबर तक मनाया जाएगा 27 सितंबर को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय रोलआउट के साथ समापन पत्र आयोजित किया जाएगा इस अवसर पर इस योजना से जुड़े अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे.

इसके अलावा इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री द्वारा योजना के लाभार्थियों से बातचीत भी किया जाएगा मनसुख मांडवीया द्वारा एन एच ए की वार्षिक रिपोर्ट का तीसरा संस्करण भी जारी किया जाएगा इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को पुरस्कार भी प्रदान किया जाने वाला है मानव द्वारा इस अवसर पर हॉस्पिटल हेल्पडेस्क की ओस्क लाभार्थी सुविधा एजेंसी पीएम जे ए वाई कमांड सेंटर और नज यूनिटी पीएमजेएसवाई टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का शुभारंभ भी किया जाएगा इस पहल में लाभार्थी तक बेहतर तरीके से स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाई जाएगी.

उद्घाटन सत्र के बाद आयोजित किए जाएंगे कुछ अन्य कार्यक्रम

इस योजना का लाभ सभी पात्र नागरिकों तक पहुंचाने के लिए आपके द्वारा इस महान ड्राइव का भी शुभारंभ किया गया था इस अभियान के माध्यम से लगभग तीन करोड़ लाभार्थियों का सत्यापन डोर टू डोर ज्ञापन के माध्यम से किया गया है पिछले 3 साल में 16.50 करोड़ लाभार्थियों की पहचान की गई है उद्घाटन सत्र के बाद यूनिवर्सल हेल्थ केयर कवरेज सुधारो और चुनौतियों पर एक तकनीकी सत्र का भी आयोजन किया जाएगा तकनीकी सत्र का विषय हेल्थ इंश्योरेंस पेनिट्रेशन टू कवर्धा मिसिंग मिडिल कन्वर्जेंस ऑफ नेशनल स्किल होगा इस सत्र को 25 सितंबर का आयोजित किया जाएगा उसी दिन डिजिटल परिवर्तन के माध्यम से स्वास्थ्य देखभाल नामक एक और सत्र आयोजित किया जाने वाला है.

संचालन में खर्च की गई 26400 करोड़ रुपए की राशि

इस योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 23 सितंबर 2018 में आरंभ किया गया था। जिससे कि यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज प्राप्त की जा सके। इस योजना के माध्यम से देश के 10.74 करोड़ परिवारों को ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान किया जाता है। यह योजना को 33 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित कि जा रही है। इस योजना के आरंभ से अब तक लगभग 2 करोड़ उपचार किए जा चुके हैं। जिसके लिए सरकार द्वारा 26400 करोड रुपए की राशि खर्च की गई है। Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत 24000 अस्पतालों को एंपैनल किया गया है। जो कि सरकारी एवं निजी है। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 918 हेल्थ बेनिफिट पैकेजेस है जिसमें 1669 प्रोसीजर है। लाभार्थी इस योजना के माध्यम से कोविड-19 का उपचार भी करवा सकता है।

इसके अलावा हड्डी रोग, कार्डियोलॉजी, कार्डियोथोरेसिक एंड वैस्कुलर सर्जरी, रेडिएशन, ऑंकोलॉजी, यूरोलॉजी आदि का उपचार भी इस योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र लाभार्थियों को कवर किया जा रहा है।

Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत दांतों का इलाज

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana को आरंभ करते समय इस योजना के अंतर्गत दांतों का इलाज शामिल किया गया था। लेकिन कुछ समय बाद सरकार द्वारा दांतों के इलाज को इस योजना से बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद केवल कुछ सर्जिकल डेंटल ट्रीटमेंट ही इस योजना के अंतर्गत शामिल किए गए थे। डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा स्वास्थ्य मंत्रालय से लगातार दांतों के इलाज को योजना के अंतर्गत शामिल करने की मांग की जा रही थी। इस मांग को मद्देनजर रखते हुए अब सरकार द्वारा अब इस योजना के अंतर्गत दांतों के इलाज को शामिल करने पर विचार किया जा रहा है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा डेंटल

काउंसिल ऑफ इंडिया से विभिन्न प्रकार के दांतों के इलाज को शामिल करने पर सुझाव मांगे गए हैं। यह सुझाव एक पत्र के माध्यम से मांगे गए हैं। जिसमें नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से उन इलाजो की सूची मांगी गई है जो आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल किए जा सकते हैं।

जल्द इस संबंध में नेशनल हेल्थ अथॉरिटी एवं डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया की एक मीटिंग भी आयोजित की जाएगी। इस मीटिंग में डेंटल पैकेज को योजना के अंतर्गत शामिल करने पर चर्चा की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत आमतौर पर नियमित होने वाले डेंटल के सभी इलाज को शामिल किया जा सकता है। जैसे कि दांत लगवाना, दांत निकलवाने से लेकर दांत का फ्रैक्चर, दात ठीक करवाना, ओरल कैंसर, बैक्टीरियल एंडोकार्डिटिस, पायरिया आदि.

मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए किया गया था यह कार्य

कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा यह निर्णय लिया गया था कि अब मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमित नागरिकों को निशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाने वाली है जिसके लिए सरकार द्वारा नई योजना लागू की जाएगी इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में गरीब एवं माध्यमिक वर्ग के नागरिकों को निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी इस योजना के लिए आयुष्मान भारत योजना के निजी अस्पतालों में एक विशेष पैकेज प्रदान किया जाएगा जिसे राज्य सरकार द्वारा को भी कई राज्यों के लिए अनुबंधित किया जाएगा.

जिसे राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 जी के लिए अनुबंधित किया जाने वाला था मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 6 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कोरोनावायरस नियंत्रण कोर ग्रुप के साथ एक बैठक की गई थी इस बैठक में इस योजना को आरंभ करने का निर्णय लिया गया था इस योजना के अंतर्गत सीटी स्कैन दवाइयों ऑक्सीजन परामर्श शुल्क आदि प्रदान की जाएगी

आयुष्मान CAPF स्वास्थ्य बीमा योजना

नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की जयंती पर हमारे देश के गृह मंत्री अमित शाह जी ने आयुष्मान CAPf स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ किया था इस योजना के अंतर्गत देश के सभी सशक्त पुलिस बलों के कर्मियों को केंद्र सरकार द्वारा स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। इस स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्रत्येक पुलिस कर्मी उठा पाएगा। इस योजना के अंतर्गत सी ए पी एफ, आसाम राइफल एवं राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के 28 लाख पुलिस कर्मियों को तथा उनके परिवारों को शामिल किया गया है। Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत 10 लाख जवान और अधिकारी एवं उनके परिवार के 50 लाख लोग भी शामिल है। यह सभी लोग देश के 24000 अस्पतालों में निशुल्क अपना इलाज करवा पाएंगे.

इस आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आरंभ की गई है
इस मौके पर गृह मंत्री ने सात केंद्र शासित पुलिस बलों के कर्मियों की आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया
इस अवसर पर गृह मंत्री मंत्री ने पुलिस के जवानों का कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई करने में भी सहारना की.

पैकेज और दरें कैसे देखें?

सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा इसके बाद आपके सामने इसका होमपेज खुलकर आएगा।
इस के होम पेज पर आपको पैकेज और दरें का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है और ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक अगला पेज खुल कर आएगा।
इस पेज पर आपको पैकेज और दरएक की पीडीएफ फाइल मिलकर आ जाएगी आप in.pdf को डाउनलोड करके पता लगा सकते हैं.


शिकायत दर्ज कैसे करें?

सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा। इसका ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने इसका हम पर खुलकर आएगा।
इस के होम पेज पर आपको बेनेफिशरी कंप्लेंट बॉक्स का ऑप्शन दिखाई देगा आप इस ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
इस पेज पर आपको शिकायत दर्ज करने के लिए एक फॉर्म दिखाई देगा आपको इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम मोबाइल नंबर ईमेल शिकायत का विशेष शिकायत का विवरण कैप्चा कोड इत्यादि सभी जानकारी को दर्ज करना होगा।
सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको जमा के अवसर पर क्लिक करना होगा इसके बाद आपको शिकायत दर्ज करनी होगी।

कैसे करें आवेदन

सबसे पहले इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा इसका ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने इसका होम पेज खुल कर आएगा।
इस के होम पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जाने का ऑप्शन दिखाई देगा आप इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
इस पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जानने के लिए एक फॉर्म दिखाई देगा आपको यदि मोबाइल नंबर या नाम के साथ खोज रहे तो जिला का चयन करना अनिवार्य है।
यदि आप एन एफ एस ए मतदाता पहचान पत्र 2012 के साथ खोज रहे हैं तो आपको एमएसबीवाई का नंबर दर्ज करना होगा और जिला का चयन करना अनिवार्य नहीं है इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे कि मोबाइल नंबर नाम डिस्ट्रिक्ट,NFSA Ration card,MSBY Card No., Voters ID 2012, SECC 2011,Govt.Pensioner Card चारी दर्ज करनी होगी।
सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सर्च का ऑप्शन पर क्लिक करना होगा इसके बाद आप अपने परिवार की पात्रता जांच कर सकते हैं।यदि MSBY Card No , SECC 2011 , NFSA Ration Card के माध्यम से परिवार का विवरण नहीं पता चल रहा है तो आपको 2012 की वोटर की लिस्ट आईडी संख्या से के माध्यम अपना नाम सर्च कर सकते है।
वोटर लिस्ट में नाम सर्च करने के बाद यदि आपके परिवार का विवरण वेबसाइट पर आ जाता है तो उस विवरण में अंकित NFSA ID अथवा सबसे पहले आपको योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
इस होम पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जाने का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
इस पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जानने के लिए एक फॉर्म दिखाई देगा आपको यदि आप मोबाइल नंबर या नाम के साथ खोज कर रहे हैं, तो जिला चयन अनिवार्य है।
यदि आप एनएफएसए (राशन कार्ड), मतदाता पहचान पत्र 2012 के साथ खोज रहे हैं, तो एमएसबीवाई कार्ड नंबर जिला चयन अनिवार्य नहीं है।इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे मोबाइल नंबर ,नाम , डिस्ट्रिक्ट , NFSA Ration Card , MSBY Card No. , Voters ID 2012 ,SECC 2011 , Govt. Pensioner Card आदि भरनी होगी।
सभी जानकारी भरने के बाद आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आप अपने परिवार की पात्रता की जांच कर सकते है। यदि MSBY Card No , SECC 2011 , NFSA Ration Card के माध्यम से परिवार का विवरण नहीं पता चल रहा है तो आपको 2012 की वोटर की लिस्ट आईडी संख्या से के माध्यम अपना नाम सर्च कर सकते है।
वोटर लिस्ट में नाम सर्च करने के बाद यदि आपके परिवार का विवरण वेबसाइट पर आ जाता है तो उस विवरण में अंकित NFSA ID अथवा MSBY ID अंकित होगी।
इस आईडी के आधार पर आप अपने और अपने परिवार का गोल्डन कार्ड बनवा सकते है। यदि आपके परिवार का विवरण मोबाइल ऍपऔर ऑफिसियल वेबसाइट पर आ जाते है तो आपको कही भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की करने की आवश्यकता नहीं होगी.

आयुष्मान भारत योजना द्वारा लाभ कैसे मिलेगा

आयुष्मान भारत योजना के जरिए लाभ प्राप्त करने के लिए मरीज को अस्पताल में भर्ती होने से पहले अपने बीमा दस्तावेज पेश करने होंगे। इसी के आधार पर अस्पताल इलाज के खर्च के बारे में बीमा कंपनी को जानकारी सौंप देगा और बीमित व्यक्ति के दस्तावेजों की पूरी तरह से पुष्टि होते ही इलाज बगैर पैसे के हो सकेंगे।

इस योजना के अंतर्गत व्यक्ति केवल सरकारी ही नहीं बल्कि निजी अस्पतालों में भी अपना इलाज प्रभावी रूप से करा सकेगा। इसमें निजी अस्पतालों को भी जोड़ा जायेगा, इसका लाभ ये होगा की सरकारी अस्पतालों में लोगों की भीड़ पहले की अपेक्षा कम रहेगी। इस योजना के अंतर्गत देशभर में डेढ़ लाख से अधिक हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोलने की योजना में है। जो कि लोगों को आवश्यक दवाएं और जांच निशुल्क रूप में मुहैया कराएगी।

आयुष्मान भारत योजना 2023 के लिए आवश्यक दस्तावेज

आयुष्मान भारत योजना हेतु जरुरी दस्तावेज (Documents) इस प्रकार है:

आधार कार्ड (परिवार के सभी लोगों का)
राशन कार्ड
मोबाइल नंबर
पते का प्रमाण

atal aayushman Yojana के माध्यम से उत्तराखंड में कैंसर जैसी बीमारी के मरीजों को निशुल्क इलाज किया जाएगा अब तक इस योजना के तहत 27112 कैंसर मरीजों का मुफ्त इलाज किया गया है जिसके लिए सरकार के द्वारा ₹500000000 की राशि खर्च की गई है अब तक इस योजना के तहत 44 लाख लाभार्थी को गोल्डन कार्ड बनवाया गया है जिनमें से 3.38 लाख नागरिकों को ₹500000 का मुफ्त इलाज की सुविधा दी गई है

इन सभी नागरिकों में से 27112 नागरिकों को कैंसर ग्रसित है इसके अलावा 1.33 लाख नागरिक को को द्वारा डायलिसिस भी करवाया गया है अब प्रदेश के नागरिक कैंसर जैसे महंगे इलाज का सुविधा उपचार नहीं कर पा रहे हैं तो उन सभी नागरिकों को सरकार के द्वारा इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा और उनका उपचार किया जाएगा 3.30 लाख से अधिक मरीजों का उपचार करवाने में 497 करोड रुपए खर्च किए गए हैं जिसमें कैंसर और डायलिसिस का उपचार लेने वाले मरीजों की संख्या सबसे अधिक है।

300 करोड़ से भी अधिक प्रावधान

उत्तराखंड सरकार द्वारा 14 June 2022 को विधानसभा में वर्ष 2022-23 के लिए 65000 Crore से अधिक के बजट की पेशकश की गई है। जिसके माध्यम से बुजुर्ग, महिला और विकलांग नागरिकों को सशक्त बनाया जाएगा। इस budget के माध्यम से उत्तराखंड सरकार द्वारा अटल आयुष्मान योजना के अंतर्गत 311.76 crore रुपए प्रस्तावित किए गए हैं। इस योजना के माध्यम से राज्य के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जाती है। जिसमें ₹500000 तक का निशुल्क इलाज शामिल है। यह योजना प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों के लिए आरंभ की गई है। वह सभी नागरिक जो बीमार होने की स्थिति में इलाज करवाना afford नहीं कर सकते उनको इस योजना के माध्यम से निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी।

अटल आयुष्मान योजना 2023 रजिस्ट्रेशन

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत शामिल होना चाहते है उन्हें इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन कर सकते है और योजना का लाभ उठा सकते है। इस अटल आयुष्मान योजना 2023 को आरम्भ किये हुए पूरा एक साल हो चूक है उत्तराखंड के मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि इस योजना के तहत अभी तक 1 लाख 10 हजार मरीजों का निशुल्क उपचार किया जा चुका है इस उपचार में 104.86 करोड रुपए का खर्च आया.

अटल आयुष्मान योजना 2023
का उद्देश्य

गरीब वर्ग के जो परिवार आर्थिक तंगी के चलते अपने बीमारी का इलाज नहीं करवा पाते है उनके लिए यह आयुष्मान भारत योजना काफी मददगार साबित हो रही है। इस योजना में लाभार्थी को सलाना पांच लाख का स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाता है जो उसके परिवार के किसी भी सदस्य की बीमारी के खर्च को कवर करेंगा। इससे गरीब वर्ग के लोग भी अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं ले सकेंगे। और बीमारियों पर होने वाले खर्च से बच सकेंगे।

जैसा कि आप सभी जानते हैं उत्तराखंड राज्य में आज बहुत ही ऐसे लोग हैं जिनको गंभीर बीमारी होने के कारण आर्थिक रूप से कमजोर हो गए हैं और उनका अपना इलाज करवाना बहुत ही मुश्किल हो गया है इन सभी समस्याओं को कम करने के लिए राज्य सरकार ने राज्य के सभी लोगों के लिए अटल आयुष्मान योजना 2023 को आरंभ किया है इस योजना के माध्यम से आयुष्मान भारत योजना की तरह राज्य के सभी लोगों को अपने बीमारी का इलाज करवाने के लिए सरकार के द्वारा ₹500000 का निशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान किया जाएगा उत्तराखंड अटल आयुष्मान योजना 2022 के अंतर्गत राज्य के लोगों की आर्थिक रूप से मदद की जाएगी और परिवार में चाहे कितना भी सदस्य हो या महिला या पुरुष अपना इलाज आसानी से करवा सकते हैं।

आयुष्मान योजना गोल्डन कार्ड 2023

इस योजना के तहत ब्रेन ट्यूमर कैंसर गुर्दा रोग बाईपास सर्जरी न्यूरो इत्यादि जैसे सभी बीमारियों का इलाज आसानी से मुफ्त में सरकार के द्वारा किया जाएगा इस योजना के तहत सरकार के द्वारा ₹500000 का निशुल्क इलाज गोल्डन कार्ड के माध्यम से सभी नागरिकों को उपलब्ध होगा राज्य का हर मरीज अपने ही गोल्डन कार्ड पर इलाज करवा सकेंगे।

इस atal aayushman Yojana 2023 के तहत कोई भी अस्पताल मरीज को पिता पुत्र या किसी अन्य रिश्तेदार के कार्ड पर भर्ती नहीं किया जाएगा इस योजना के तहत आयुष्मान सोसायटी की ओर से राज्य में 25 जनवरी तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है इस अभियान के तहत 25 जनवरी तक अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं राज्य के गरीब लोग गोल्डन के बिना इस योजना के तहत सरकारी और निजी अस्पतालों में अपना इलाज नहीं करवा सकते.

आयुष्मान भारत योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण निर्देश जानकारी

जैसा कि आप सभी लोग यह जानते होंगे कि हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा इस्मान भारत कार्ड की स्थापना की गई थी
इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य देश के प्रत्येक नागरिक तक स्वास्थ्य सुविधा की उपलब्धता सुनिश्चित कराना है
इस ऐसे सरकार द्वारा 5 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा लाभार्थी को प्रदान किया जाता है
आयुष्मान भारत योजना का संचालन भारत के लगभग सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में किया जाता है
यहां हम आपको यह बता दें कि केवल पश्चिम बंगाल एनसीटी ऑफ दिल्ली एवं उड़ीसा में इस योजना का संचालन नहीं किया जाता है
इस योजना को दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना में शामिल की गई है
इस योजना का लाभ पूरे देश भर में प्रो टेबल है
इस योजना के माध्यम से लाभार्थी परिवार को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जाती है
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत केवल inpatient सेवाओं प्रदान करने वाले अस्पताल ही empanell है
जुलाई तक लगभग 23000 अस्पतालों को विभिन्न राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों की सरकार द्वारा योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा
सरकार द्वारा 1669 Procedure एवं 26 विभिन्न विशेषताएं के माध्यम से उपचार प्रदान किया जाएगा
इसके अलावा Chemotherapy, radio, therapy, oncology के साथ-साथ योजना के अंतर्गत कैंसर के उपचार भी प्रदान किया जाता है
भारत सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत उन सभी बच्चों को लाभ प्रदान किया जाएगा जिन्होंने अपने माता-पिता को कोविड-19 के कारण खो दिया हो
ऐसे सभी बच्चों को प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स फाउंड के माध्यम से किया जाने वाला है.

आरोग्य मंथन 3.0 का उद्घाटन

23 सितंबर को केंद्रीय स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडवीया आयुष्मान भारत योजना की तीसरी वर्षगांठ का उद्घाटन करेंगे जिसे आरोग्य मंथन 3.0 के रूप में माना जाएगा इस वर्ष गांठ को आयुष्मान भारत दिवस के रूप में भी जाना जाता है या मनाया जाता है राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के द्वारा जारी किए गए बयान के अनुसार आरोग्य मंथन 3.0 को 23 सितंबर से लेकर 25 सितंबर तक मनाया जाएगा 27 सितंबर को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री डिजिटल स्वास्थ्य मिशन के राष्ट्रीय रोलआउट के साथ समापन पत्र आयोजित किया जाएगा इस अवसर पर इस योजना से जुड़े अन्य अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे.

इसके अलावा इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री द्वारा योजना के लाभार्थियों से बातचीत भी किया जाएगा मनसुख मांडवीया द्वारा एन एच ए की वार्षिक रिपोर्ट का तीसरा संस्करण भी जारी किया जाएगा इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को पुरस्कार भी प्रदान किया जाने वाला है मानव द्वारा इस अवसर पर हॉस्पिटल हेल्पडेस्क की ओस्क लाभार्थी सुविधा एजेंसी पीएम जे ए वाई कमांड सेंटर और नज यूनिटी पीएमजेएसवाई टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का शुभारंभ भी किया जाएगा इस पहल में लाभार्थी तक बेहतर तरीके से स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाई जाएगी.

उद्घाटन सत्र के बाद आयोजित किए जाएंगे कुछ अन्य कार्यक्रम

इस योजना का लाभ सभी पात्र नागरिकों तक पहुंचाने के लिए आपके द्वारा इस महान ड्राइव का भी शुभारंभ किया गया था इस अभियान के माध्यम से लगभग तीन करोड़ लाभार्थियों का सत्यापन डोर टू डोर ज्ञापन के माध्यम से किया गया है पिछले 3 साल में 16.50 करोड़ लाभार्थियों की पहचान की गई है उद्घाटन सत्र के बाद यूनिवर्सल हेल्थ केयर कवरेज सुधारो और चुनौतियों पर एक तकनीकी सत्र का भी आयोजन किया जाएगा तकनीकी सत्र का विषय हेल्थ इंश्योरेंस पेनिट्रेशन टू कवर्धा मिसिंग मिडिल कन्वर्जेंस ऑफ नेशनल स्किल होगा इस सत्र को 25 सितंबर का आयोजित किया जाएगा उसी दिन डिजिटल परिवर्तन के माध्यम से स्वास्थ्य देखभाल नामक एक और सत्र आयोजित किया जाने वाला है.

संचालन में खर्च की गई 26400 करोड़ रुपए की राशि

इस योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 23 सितंबर 2018 में आरंभ किया गया था। जिससे कि यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज प्राप्त की जा सके। इस योजना के माध्यम से देश के 10.74 करोड़ परिवारों को ₹500000 का स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान किया जाता है। यह योजना को 33 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित कि जा रही है। इस योजना के आरंभ से अब तक लगभग 2 करोड़ उपचार किए जा चुके हैं। जिसके लिए सरकार द्वारा 26400 करोड रुपए की राशि खर्च की गई है। Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत 24000 अस्पतालों को एंपैनल किया गया है। जो कि सरकारी एवं निजी है। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 918 हेल्थ बेनिफिट पैकेजेस है जिसमें 1669 प्रोसीजर है। लाभार्थी इस योजना के माध्यम से कोविड-19 का उपचार भी करवा सकता है।

इसके अलावा हड्डी रोग, कार्डियोलॉजी, कार्डियोथोरेसिक एंड वैस्कुलर सर्जरी, रेडिएशन, ऑंकोलॉजी, यूरोलॉजी आदि का उपचार भी इस योजना के अंतर्गत शामिल किया गया है। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र लाभार्थियों को कवर किया जा रहा है।

Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत दांतों का इलाज

Pradhan Mantri Ayushman Bharat Yojana को आरंभ करते समय इस योजना के अंतर्गत दांतों का इलाज शामिल किया गया था। लेकिन कुछ समय बाद सरकार द्वारा दांतों के इलाज को इस योजना से बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद केवल कुछ सर्जिकल डेंटल ट्रीटमेंट ही इस योजना के अंतर्गत शामिल किए गए थे। डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा स्वास्थ्य मंत्रालय से लगातार दांतों के इलाज को योजना के अंतर्गत शामिल करने की मांग की जा रही थी। इस मांग को मद्देनजर रखते हुए अब सरकार द्वारा अब इस योजना के अंतर्गत दांतों के इलाज को शामिल करने पर विचार किया जा रहा है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा डेंटल

काउंसिल ऑफ इंडिया से विभिन्न प्रकार के दांतों के इलाज को शामिल करने पर सुझाव मांगे गए हैं। यह सुझाव एक पत्र के माध्यम से मांगे गए हैं। जिसमें नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया से उन इलाजो की सूची मांगी गई है जो आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल किए जा सकते हैं।

जल्द इस संबंध में नेशनल हेल्थ अथॉरिटी एवं डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया की एक मीटिंग भी आयोजित की जाएगी। इस मीटिंग में डेंटल पैकेज को योजना के अंतर्गत शामिल करने पर चर्चा की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत आमतौर पर नियमित होने वाले डेंटल के सभी इलाज को शामिल किया जा सकता है। जैसे कि दांत लगवाना, दांत निकलवाने से लेकर दांत का फ्रैक्चर, दात ठीक करवाना, ओरल कैंसर, बैक्टीरियल एंडोकार्डिटिस, पायरिया आदि.

मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने के लिए किया गया था यह कार्य

कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा यह निर्णय लिया गया था कि अब मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमित नागरिकों को निशुल्क उपचार की सुविधा प्रदान की जाने वाली है जिसके लिए सरकार द्वारा नई योजना लागू की जाएगी इस योजना के अंतर्गत प्रदेश में गरीब एवं माध्यमिक वर्ग के नागरिकों को निशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी इस योजना के लिए आयुष्मान भारत योजना के निजी अस्पतालों में एक विशेष पैकेज प्रदान किया जाएगा जिसे राज्य सरकार द्वारा को भी कई राज्यों के लिए अनुबंधित किया जाएगा.

जिसे राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 जी के लिए अनुबंधित किया जाने वाला था मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 6 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कोरोनावायरस नियंत्रण कोर ग्रुप के साथ एक बैठक की गई थी इस बैठक में इस योजना को आरंभ करने का निर्णय लिया गया था इस योजना के अंतर्गत सीटी स्कैन दवाइयों ऑक्सीजन परामर्श शुल्क आदि प्रदान की जाएगी

आयुष्मान CAPF स्वास्थ्य बीमा योजना

नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी की जयंती पर हमारे देश के गृह मंत्री अमित शाह जी ने आयुष्मान CAPf स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ किया था इस योजना के अंतर्गत देश के सभी सशक्त पुलिस बलों के कर्मियों को केंद्र सरकार द्वारा स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। इस स्वास्थ्य बीमा का लाभ प्रत्येक पुलिस कर्मी उठा पाएगा। इस योजना के अंतर्गत सी ए पी एफ, आसाम राइफल एवं राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के 28 लाख पुलिस कर्मियों को तथा उनके परिवारों को शामिल किया गया है। Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत 10 लाख जवान और अधिकारी एवं उनके परिवार के 50 लाख लोग भी शामिल है। यह सभी लोग देश के 24000 अस्पतालों में निशुल्क अपना इलाज करवा पाएंगे.

इस आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आरंभ की गई है
इस मौके पर गृह मंत्री ने सात केंद्र शासित पुलिस बलों के कर्मियों की आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया
इस अवसर पर गृह मंत्री मंत्री ने पुलिस के जवानों का कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई करने में भी सहारना की.

पैकेज और दरें कैसे देखें?

सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा इसके बाद आपके सामने इसका होमपेज खुलकर आएगा।
इस के होम पेज पर आपको पैकेज और दरें का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है और ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक अगला पेज खुल कर आएगा।
इस पेज पर आपको पैकेज और दरएक की पीडीएफ फाइल मिलकर आ जाएगी आप in.pdf को डाउनलोड करके पता लगा सकते हैं.


शिकायत दर्ज कैसे करें?

सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा। इसका ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने इसका हम पर खुलकर आएगा।
इस के होम पेज पर आपको बेनेफिशरी कंप्लेंट बॉक्स का ऑप्शन दिखाई देगा आप इस ऑप्शन पर क्लिक कर सकते हैं ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
इस पेज पर आपको शिकायत दर्ज करने के लिए एक फॉर्म दिखाई देगा आपको इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम मोबाइल नंबर ईमेल शिकायत का विशेष शिकायत का विवरण कैप्चा कोड इत्यादि सभी जानकारी को दर्ज करना होगा।
सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको जमा के अवसर पर क्लिक करना होगा इसके बाद आपको शिकायत दर्ज करनी होगी।

कैसे करें आवेदन

सबसे पहले इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा इसका ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने इसका होम पेज खुल कर आएगा।
इस के होम पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जाने का ऑप्शन दिखाई देगा आप इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
इस पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जानने के लिए एक फॉर्म दिखाई देगा आपको यदि मोबाइल नंबर या नाम के साथ खोज रहे तो जिला का चयन करना अनिवार्य है।
यदि आप एन एफ एस ए मतदाता पहचान पत्र 2012 के साथ खोज रहे हैं तो आपको एमएसबीवाई का नंबर दर्ज करना होगा और जिला का चयन करना अनिवार्य नहीं है इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे कि मोबाइल नंबर नाम डिस्ट्रिक्ट,NFSA Ration card,MSBY Card No., Voters ID 2012, SECC 2011,Govt.Pensioner Card चारी दर्ज करनी होगी।
सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सर्च का ऑप्शन पर क्लिक करना होगा इसके बाद आप अपने परिवार की पात्रता जांच कर सकते हैं।यदि MSBY Card No , SECC 2011 , NFSA Ration Card के माध्यम से परिवार का विवरण नहीं पता चल रहा है तो आपको 2012 की वोटर की लिस्ट आईडी संख्या से के माध्यम अपना नाम सर्च कर सकते है।
वोटर लिस्ट में नाम सर्च करने के बाद यदि आपके परिवार का विवरण वेबसाइट पर आ जाता है तो उस विवरण में अंकित NFSA ID अथवा सबसे पहले आपको योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
इस होम पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जाने का ऑप्शन दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
इस पेज पर आपको अपने परिवार की पात्रता जानने के लिए एक फॉर्म दिखाई देगा आपको यदि आप मोबाइल नंबर या नाम के साथ खोज कर रहे हैं, तो जिला चयन अनिवार्य है।
यदि आप एनएफएसए (राशन कार्ड), मतदाता पहचान पत्र 2012 के साथ खोज रहे हैं, तो एमएसबीवाई कार्ड नंबर जिला चयन अनिवार्य नहीं है।इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे मोबाइल नंबर ,नाम , डिस्ट्रिक्ट , NFSA Ration Card , MSBY Card No. , Voters ID 2012 ,SECC 2011 , Govt. Pensioner Card आदि भरनी होगी।
सभी जानकारी भरने के बाद आपको सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आप अपने परिवार की पात्रता की जांच कर सकते है। यदि MSBY Card No , SECC 2011 , NFSA Ration Card के माध्यम से परिवार का विवरण नहीं पता चल रहा है तो आपको 2012 की वोटर की लिस्ट आईडी संख्या से के माध्यम अपना नाम सर्च कर सकते है।
वोटर लिस्ट में नाम सर्च करने के बाद यदि आपके परिवार का विवरण वेबसाइट पर आ जाता है तो उस विवरण में अंकित NFSA ID अथवा MSBY ID अंकित होगी।
इस आईडी के आधार पर आप अपने और अपने परिवार का गोल्डन कार्ड बनवा सकते है। यदि आपके परिवार का विवरण मोबाइल ऍपऔर ऑफिसियल वेबसाइट पर आ जाते है तो आपको कही भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की करने की आवश्यकता नहीं होगी.

आयुष्मान भारत योजना द्वारा लाभ कैसे मिलेगा

आयुष्मान भारत योजना के जरिए लाभ प्राप्त करने के लिए मरीज को अस्पताल में भर्ती होने से पहले अपने बीमा दस्तावेज पेश करने होंगे। इसी के आधार पर अस्पताल इलाज के खर्च के बारे में बीमा कंपनी को जानकारी सौंप देगा और बीमित व्यक्ति के दस्तावेजों की पूरी तरह से पुष्टि होते ही इलाज बगैर पैसे के हो सकेंगे।

इस योजना के अंतर्गत व्यक्ति केवल सरकारी ही नहीं बल्कि निजी अस्पतालों में भी अपना इलाज प्रभावी रूप से करा सकेगा। इसमें निजी अस्पतालों को भी जोड़ा जायेगा, इसका लाभ ये होगा की सरकारी अस्पतालों में लोगों की भीड़ पहले की अपेक्षा कम रहेगी। इस योजना के अंतर्गत देशभर में डेढ़ लाख से अधिक हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोलने की योजना में है। जो कि लोगों को आवश्यक दवाएं और जांच निशुल्क रूप में मुहैया कराएगी।

आयुष्मान भारत योजना 2023 के लिए आवश्यक दस्तावेज

आयुष्मान भारत योजना हेतु जरुरी दस्तावेज (Documents) इस प्रकार है:

आधार कार्ड (परिवार के सभी लोगों का)
राशन कार्ड
मोबाइल नंबर
पते का प्रमाण

Amar Kumar is a graduate of Journalism, Psychology, and English. Passionate about communication - with words spoken and unspoken, written and unwritten - he looks forward to learning and growing at every opportunity. Pursuing a Post-graduate Diploma in Translation Studies, he aims to do his part in saving the 'lost…

This is a new paragraph added to the author box.

Leave a Comment

Advertisements