ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

Currency Notes, एक 1000 और 2000 रुपए पर RBI ने दी बरी जानकारी!

Currency Notes rbi new notes 2023 rbi new currency notes rbi new launch currency rbi launch new cryptocurrency

Currency Notes 2022, नमस्कार मित्रों आप सभी लोगों का स्वागत है हमारे हिसाब चिकन में आज हम अपने इस पेज के माध्यम से आप सभी लोगों को 1000 तथा 2000 रुपए के नोट से संबंधित एक बेहद महत्वपूर्ण खबर की जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जिसकी सहायता से आप लोग भी अपने नोटों का बदलाव कर सकते हैं यह जानकारी ऑफिशियल ग्रुप से आरबीआई के द्वारा जारी की गई है आरबीआई ने क्या बदलाव करने की सोच रही है आरबीआई ने यह जानकारी प्रदान की है कि 1 जनवरी से सभी नोटों में होंगे कुछ बदलाव चलिए जानते हैं विस्तार पूर्वक.

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

Related Links:

क्या हुआ अगर आरबीआई द्वारा नए साल के पावन अवसर पर एक बार फिर नोटबंदी की तरह ही ₹2000 के नोटों को रद्द करते हुए वापस ले लिया जाए नहीं आप लोगों को घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह केवल एक असंख्य संभावना है जो कि आजकल भारतीय बाजारों में देखने को मिल रही है और इसलिए हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से करेंसी नोट्स के बारे में बताएंगे.

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Currency Notes 2023

भारतीय नोटों को लेकर एक बड़ी खबर निकल कर आ रही है दावा किया जा रहा है कि 1 जनवरी साल 2023 से 100 तथा ₹2000 के नोटों को बंद कर दिया जाएगा क्योंकि यह नोट अभी बहुत ही कम नजर आ रहा है आशंका यह भी लगाई जा रही है कि पुराने 1000 के नोट को फिर से लांच किया जा सकता है तथा 2000 रुपए के नोट को रद्द भी किया जा सकता है तेजी के साथ वायरल हो रहा है यह खबर काफी चर्चा में है और इसलिए हम आपको इस खबर से संबंधित सभी जानकारी नीचे प्रदान करने जा रहे हैं.

rbi new notes 2023 rbi new launch currency

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

एक तरफ जा पर पूरे भारतवर्ष सहित पूरा विश्व नए साल का स्वागत करने के लिए तैयार है तो वहीं दूसरी तरफ भारतीय बाजारों में एक बार फिर से नोटबंदी जैसा मोहाल देखने को मिल रहा है जिसके तहत या दावा किया जा रहा है कि ₹1000 के नोटों को भारतीय बाजारों में वापस एंट्री दी जा सकती है और ₹2000 के नोट को भारत में नोट बंदी के तरह ही बंद कर दिया जाएगा.

भारत सरकार द्वारा की गई नोटबंदी के बाद एक बार फिर से भारतीय रुपए में बड़े वह करें फैसले आने की उम्मीद जताई जा रही है और इसलिए हम आपको कुछ बिंदुओं की मदद से पूरी अपडेट प्रदान करना चाहते हैं जो कि निम्नलिखित प्रकार की होने वाली है

ताजा सूत्रों से मिली खबरों अनुसार सोशल मीडिया वेबसाइट पर लगातार ट्रेन रोक और वायरल हो तो ₹1000 के नोटों की वापसी की पुष्टि की गई है यह कहा जा रहा है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा आधार पर नए साल के शुभ अवसर पर भारतीय बाजारों में एक बार फिर से ₹1000 के नोटों को वापस कर दिया जाएगा.

क्या सच में RBI नये साल में ₹ 2,000 रुपयो के नोट को रद्द करके वापस लेना शुरु करेगा?

  • मोदी सरकार ने, साल 2016 मे, काला बाजारी और भ्रष्टाचार Black Money को बड़ा व कड़ा फैसला लेते हुए ₹ 5,000 व ₹ 1,000 के नोटो को रद्द कर दिया था,
  • लेकिन अब एक बार फिर से भारतीय बाजारों मे, इसी प्रकार की खबरें व आंशका जताई जा रही है कि, जहां एक तरफ RBI द्धारा ₹ 1,000 के नये नोटो को जारी किया जायेगा तो वहीं दूसरी तरफ RBI द्धारा 2,000 रुपयो के बाजार में चल रहे सभी नोट्स को तत्कालीन प्रभाव से रद्द कर दिया जायेगा और
  • आप सभी नागरिकों को जल्द से जल्द अपने नकदी के रुप मे उपलब्ध ₹ 2,000 के नोट्स को बैंक मे, जमा करना होगा आदि.

पीआईबी ने किया ऑफिशियल ट्वीट!

पीआईबी फैक्ट चेक ने अपने ऑफिशियल ट्वीट में लिखा है और सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में दावा किया जा रहा कि 1 जनवरी से 1000 का नया नोट आने वाला है और 2000 का नया नोट बंद हो जाने वाला है तो यह खबर पूरी तरह से गलत है और उन्होंने यह भी जानकारी दिया कि लोगों को ऐसे खबरों से बच कर रहना चाहिए क्योंकि यह सभी फर्जी खबर लोग इसलिए फैलाते हैं ताकि उनका फल व और भी बड़े.

ऑफिशियल ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी प्रदान की गई है कि 1 जनवरी से किसी भी तरह की बदलाव नहीं की जाएगी नोट में और जो भी जानकारी निकलकर आ रही है कि 1 जनवरी से 1000 का नोट आने वाला है इस खबर की पुष्टि नहीं की जा सकी क्योंकि यह खबर फर्जी साबित हुई है इसलिए सभी लोगों को ऐसे खबरों से बच कर रहना चाहिए.

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Fact Check of 2,000 Currency Note News

आजकल जानकारी का बहुत अच्छा सोर्स बन चुका है, लेकिन सोशल मीडिया पर कई ऐसे खबरें वायरल होती रहती है जो गलत होती हैं. ऐसे में किसी भी खबर पर विश्वास करने से पहले इसकी सही तरीके से जांच करना बहुत जरूरी है. आजकल एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि सरकार 2023 में 1,000 रुपये के नोटों को मार्केट में दोबारा लाने की तैयारी कर रही है. इसके साथ ही यह दावा किया जा रहा है कि पुराने 2,000 रुपये के नोटों को मार्केट में बंद किया जाएगा. अगर आपने भी यह वीडियो देखा है तो हम आपको इस वायरल वीडियो की सच्चाई Viral Message Fact Check बताने जा रहे हैं.

वायरल वीडियो में किया जा रहा यह दावा!

वायरल मैसेज में यह दावा किया जा रहा है कि साल 2023 की शुरुआत के साथ ही मार्केट में 1,000 रुपये के नोट वापस आ जाएंगे. इसके साथ ही यह भी दावा किया जा रहा है कि अब बैंक 2,000 रुपये के नोट वापस ले लेगा. इसके साथ ही बैंक कस्टमर्स को केवल 50,000 रुपये तक के नोट जमा करने की परमिशन मिलेगी. ऐसे में 10 दिनों के भीतर ही 2,000 रुपये के नोट बंद कर दिए जाएंगे. ऐसे में आप अपने पास 2,000 रुपये के नोट ज्यादा न रखें.

वायरल मैसेज की सच्चाई!

प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (Press Information Bureau) ने इस वायरल दावे की सच्चाई पता करने के लिए फैक्ट चेक किया है. अपने फैक्ट चेक में पीआईबी ने बताया है कि वायरल हो रहे वीडियो में किए जा रहे दावे पूरी तरह से फर्जी है. सरकार ने इस तरह का कोई फैसला नहीं लिया है और जनवरी 2023 के बाद भी 2,000 रुपये के नोट वैलिड होंगे. इसके साथ ही सरकार 1,000 रुपये के नोट मार्केट में नहीं लॉन्च करने वाली है

इस तरह के फर्जी मैसेज को न करें फॉर्वर्ड!

आपको बता दें कि पीआईबी ने लोगों को आगाह किया है कि यह वीडियो पूरी तरीके से फर्जी है और इस तरह के वायरल दावे की सच्चाई पता किए बिना किसी को भी फॉरवर्ड न करें. इसके साथ ही अगर अगर आपके पास में भी कोई इस तरह का मैसेज आता है तो आप उसकी सच्चाई के बारे में पता लगाने के लिए फैक्ट चेक करा सकते हैं. आप पीआईबी के जरिए फैक्ट चेक करा सकते हैं. इसके लिए आपको ऑफिशियल लिंक https://factcheck.pib.gov.in/ पर विजिट करना है. इसके अलावा आप वाट्सएप नंबर +918799711259 या ईमेल [email protected] पर भी वीडियो भेज सकते हैं.

ज्वाइन करे टेलीग्राम ग्रुप

भारतीय मुद्रा का इतिहास?

तो दोस्तों आज हम आपको भारत की राष्ट्रिय मुद्रा यानि के रुपये के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले हैं तो कृपया कर इस लेख को अंत तक अवश्य पढियेगा। भारतीय मुद्रा का इतिहास जान्ने के लिए इसको पूर्ण रूप से पढ़िए

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

जैसा की आपको पता हैं की भारत की राष्ट्रिय मुद्रा रुपये हैं। तो क्या आप जानते हैं की रुपये का प्रयोग सबसे पहले किसने और कब किया था बताया यह जाता हैं की की रुपये का प्रयोग सबसे पहल शेरशाह सूरी के द्वारा किया गया था। शेरशाह सूरी ने रुपये का प्रयोग 1540-1545 तक किया था। शेरशाह सूरी ने रुपये का प्रयोग भारत की अर्थव्यवस्था और एक बेहतर शाशनकाल के रूप में किया था। शेरशाह सूरी के द्वारा ही सबसे पहले रुपये को बनाने का उपदेश दिया था। उस समय में रुपये को सिक्कों में बनाने व चलाने के लिए कहा था। तब उन सिक्कों को मोहरे के नाम से पुकारा जाता था। उस समय शेरशाह सूरी ने सिक्कों का निर्माण चांदी व ताम्बे के द्वारा बनाए के लिए कहा गया था।

उस समय जब चांदी का सिक्का बनाया गया था तब उस सिक्कें का भार 178 grains (11.534 grams) था। तब से लेकर आज तक भारतीय मुद्रा के रूप में रुपये को ही महत्वता मिली हैं। जब भारत में ब्रिटिश का राज था तब भी भारत में रुपये ही चलता था उस समय में सिक्कों का भार 11.66 ग्राम था जिसमे से 91 % शुद्ध चांदी था। 19वी शताब्दी जब ख़तम होने वाली थी तब भारतीय सिक्का करीब 1 शिलिंग के बराबर थी और चार पेन्स के बराबर था और 1/15 पौंड के बराबर माना जाता था। परन्तु 19वी सदी में जब सभी सशक्त अर्थव्यवस्थाएं सोने यानि के स्वर्ण पर आधारित थी उस समय चांदी के मूल्य में बहुत गिरावट आ गयी.

रुपये शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई?

तो दोस्तों आप सभी यह तो सोचते ही होंगे की रुपये शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई तो उसके बारे में हम आपको यहाँ पर बताने वाले हैं की रुपये की उत्पत्ति कैसे और कहाँ से हुई थी।

रुपये शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द रुप्याह् से हुई थी इस शब्द का हिंदी में मतलब होता है कच्चा चांदी रूप्यकम् शब्द का अर्थ होता है चांदी का सिक्का। संस्कृत भाषा को भारत की सबसे पुरानी भाषा माना जाता हैं इसलिए इस शब्द को संस्कृत भाषा से लिया गया था। इस शब्द का प्रयोग शेरशाह सूरी के द्वारा किया गया था इन्होने ही रुपये का अविष्कार किया था और रुपये बनाने को भी कहा था। उस समय रुपये को सिक्कों के रूप में बनाया जाता था और वह सभी सिक्कें चांदी के बने हुए होते थे जिनका वजन उस समय 178 grains (11.534 grams) हुआ करता था। उस समय उन सिक्कों को मोहर के नाम से पुकारा जाता था.

भारत में कागज़ी नोटों की शुरुआत कब हुई?

तो दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की भारत में आज के समय में नोटों की महत्वता अधिक मानी जाती हैं तो क्या आप जानते हैं की भारत में नोटों की शुरुआत कब हुई थी जिसके बारे में हम आपको बताने वाले हैं। तो कृपया ध्यानपूर्वक पढ़े एवं इस लेख में अंत तक बने रहिये

भारत में नोटों की शुरुआत 1770 में हुई थी उस समय पहली बार रुपये को नोटों के रूप में छापा गया था। भारत देश में पहली बार नोटों को बैंक ऑफ़ हिंदुस्तान के द्वारा छापे गए थे। 1770 में बैंक ऑफ़ हिंदुस्तान ने पहली बार कोलकाता में नोट छापे थे। लेकिन जब भारत में ब्रिटिश का राज आ चूका था तब ब्रिटिश राज के दौरान भी ब्रिटिशों के द्वारा कागज़ के नोट छापे गए थे ब्रिटिशों के द्वारा पहले बार कागजी नोट 1917 में छापे गए थे। भारत की आजादी से पहले 1926 में महाराष्ट्र के नासिक में भारतीय मुद्रा यानि रुपये को छापने की अनुमति दे दी गयी थी। तब उस से में भारतीय रुपये के नोट छापे गए थे।

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

आजाद भारत का पहला नोट कौनसा था?

जैसा की आप जानते हो की भारत को 1947 में भारत को अंग्रेजों से आजादी मिल चुकी थी। उससे पहले भारत में ब्रिटिशों की करेंसी चलती थी लेकिन उसके बाद भारत ने अपने खुद के नोट छापे थे जिनके बारे में हम आपको यहाँ पर बताने वाले हैं.

जब भारत को आजादी मिली तब भारतीय मुद्रा में कुछ बदलाव किये गए थे और नए नोट छापे गए थे। आजादी के बाद भारत ने सबसे पहले 1 रुपये का नोट छापा था। इस नोट को भारतीय मुद्रा के रूप में 12 अगस्त 1949 को जारी किया गया। इस नोट के ऊपर अशोक स्थम्ब का चित्र बना हुआ था.

उसके बाद भी इस नोट में कई बार कुछ न कुछ बदलाव किये गए थे और इस नोट में गेटवे ऑफ इंडिया, बृहदेश्वर मंदिर के चित्र भी छपे गए थे। उस समय इन सभी नोटों पर अंग्रेजी भाषा में लिखा हुआ करता था लेकिन उसके बाद 1953 में सभी नोटों में अंग्रेजी भाषा को हटाकर उनमे हिंदी भाषा में लिखा गया था।

फिर सन 1954 में काफी अधिक राशि के नोट छापे गए थे जैसे की 1000 रुपये का 5000 रुपये का और यहाँ तक की 10000 रुपये का नोट भी छापे गए थे और उन सभी नोटों पर अलग अलग चित्र छापे गए थे 1000 के नोट पर तंजोर मंदिर का चित्र छापा गया था , 5000 के नोट पर गेटवे ऑफ इंडिया का चित्र छापा गया था, 10000 के नोट पर लॉयन कैपिटल, अशोक स्तंभ चित्र थे.

फिर सन 1978 में भारत सरकार के द्वारा Demonetisation यानि के नोटबंदी कर दी गयी थी। उसके बाद 10000 रुपये के नोट को बंद कर दिया गया था यह है 10000 रुपये का नोट का चित्र आज के समय में किसी भी व्यक्ति के पास देखने को नहीं मिलेगा.

भारत में पहला नोटबंदी कब हुआ था?

फिर सन 1978 में भारत सरकार के द्वारा Demonetisation यानि के नोटबंदी कर दी गयी थी। उसके बाद 10000 रुपये के नोट को बंद कर दिया गया था यह है 10000 रुपये का नोट का चित्र आज के समय में किसी भी व्यक्ति के पास देखने को नहीं मिलेगा.

rbi new notes 2023, rbi new notes 2023, rbi new notes 2023, rbi new notes 2023, rbi new notes 2023, rbi new notes 2023, rbi new notes 2023,rbi new currency notes, rbi new currency notes, rbi new currency notes,rbi new currency notes,rbi new currency notes, rbi new launch currency , rbi new launch currency ,rbi new launch currency , rbi new launch currency ,rbi new launch currency , rbi new launch currency , rbi new launch currency , rbi new notes 2023, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency, rbi launch new cryptocurrency

नोटिस!

अगर आप लोग बिहार बोर्ड से जुड़ी सभी खबरों की जानकारी सबसे पहले प्राप्त करना चाहते हैं जैसे कि सरकारी रिजल्ट, स्कॉलरशिप, रजिस्ट्रेशन कार्ड एडमिट कार्ड, डमी कार्ड तथा केंद्र सरकार की ओर से चलाई जाने वाली सभी योजनाओं का जानकारी सबसे पहले प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को फॉलो अवश्य करें.

सारांश!

अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आप लोगों को पसंद आया हो तो हमारे इस पेज को अपने सभी मित्रों के साथ शेयर अवश्य करें और ऐसे ही खबरों को जानने के लिए हमारे साथ इस आर्टिकल से जुड़े रहे ताकि आपके काम की कोई भी खबर आप से ना छूटे चाहे वह रोजगार से जुड़ी खबर या किसी अन्य योजना से हम सभी खबरों का अपडेट अब तक लाएंगे.

इसको लेकर आपके मन में किसी भी प्रकार का डाउट हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में अपनी राय कमेंट अवश्य करें ताकि हम भी आपकी समस्याओं को जान सके धन्यवाद.

ध्यान दें :- ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट liveyojana.com के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…!!

Posted By-Govinda Rauniyar

UP Kisan karj Rahat list 2021

Related Links:

FAQS ?Currency Notes 2023

आजाद भारत का पहला नोट कौनसा था?

Ans भारत को 1947 में भारत को अंग्रेजों से आजादी मिल चुकी थी। उससे पहले भारत में ब्रिटिशों की करेंसी चलती थी लेकिन उसके बाद भारत ने अपने खुद के नोट छापे थे जिनके बारे में हम आपको यहाँ पर बताने वाले हैं.
जब भारत को आजादी मिली तब भारतीय मुद्रा में कुछ बदलाव किये गए थे और नए नोट छापे गए थे। आजादी के बाद भारत ने सबसे पहले 1 रुपये का नोट छापा था। इस नोट को भारतीय मुद्रा के रूप में 12 अगस्त 1949 को जारी किया गया। इस नोट के ऊपर अशोक स्थम्ब का चित्र बना हुआ था

भारतीय मुद्रा का इतिहास?

Ans, भारत की राष्ट्रिय मुद्रा रुपये हैं। तो क्या आप जानते हैं की रुपये का प्रयोग सबसे पहले किसने और कब किया था बताया यह जाता हैं की की रुपये का प्रयोग सबसे पहल शेरशाह सूरी के द्वारा किया गया था। शेरशाह सूरी ने रुपये का प्रयोग 1540-1545 तक किया था।

1 thought on “Currency Notes, एक 1000 और 2000 रुपए पर RBI ने दी बरी जानकारी!”

Leave a Comment