भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्था करता UAE | UAE  Mediating Between India And Pakistan

भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्था करता UAE | UAE  Mediating Between India And Pakistan

भारतीय उपमहाद्वीप के दो देश भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते कैसे हैं, यह अच्छी तरह से जाना जाता है। 1947 में आजादी मिलने के पश्चात हुई घटनाओं और युद्ध के परिणाम स्वरूप , दोनों देश के रिश्तो में इतनी तल्ख़ियां है कि इसकी उम्मीद कम ही है कि आने वाले समय में दोनों देश के रिश्ते अच्छे हो । लेकिन समय – समय पर आए कुछ बयानों और घटनाओं के बाद दोनों देश के रिश्ते पर एक बार फिर से विचार करने के लिए हमें बेबस जरूर करती है। Mediating Between India And Pakistan

अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा हाल ही में कराए गए एक वर्चुअल कार्यक्रम में UAE (संयुक्त अरब अमीरात) के राजदूत ने एक ऐसा बयान दिया, जिसने भारत समेत पूरे विश्व को भारत और पाकिस्तान के रिश्तो पर बात करने के लिए एक बार फिर से मजबूर कर दिया है। दरअसल उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि उनका देश भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता का काम कर रहा है। यह बात काफी अजीब थी, क्योंकि उनसे भारत और पाकिस्तान के रिश्ते पर कोई सवाल ही नहीं पूछा गया था। बल्कि उनसे पूछा गया था कि क्या उनका देश अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया बहाल करने में पाकिस्तान को और उपयोग बनाने के लिए उसे समझाने का प्रयास करेगा। इसके जवाब में उन्होंने खुद ही भारत और पाकिस्तान के रिश्ते पर टिप्पणियां की जो कहीं से भी एक जिम्मेदार मुल्क होने का संकेत नहीं देता।

Mediating Between India And Pakistan

यह अच्छी तरह से जाना जाता है कि भारत पाकिस्तान और UAE के बीच कोई त्रिस्तरीय संबंध नहीं है, लेकिन उसके बाद भी इस तरह की बयान बाजी समझ से परे है। हम सभी जानते हैं कि भारत हमेशा से कश्मीर मसले पर किसी तीसरे देश के हस्तक्षेप का विरोध करते आया है और भारत कभी नहीं चाहेगा कि कोई तीसरा देश भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्था कराएं। आपको याद यह बता दूं की अमेरिका ने भी पिछले साल इस तरह के प्रयास किए थे, जिसका भारत में करा विरोध हुआ था। यह बयान इस समय और ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है क्योंकि पिछले कई महीनों से भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तो में आई तल्ख़ियां को कम करने की बातें चल रही है। पिछले दिनों UAE में हुए विदेश मंत्रियों के बैठक के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय शायद भारत और पाकिस्तान के संबंध पर कोई चर्चा करें, लेकिन विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने इसे सिरे से खारिज कर दिया।
इतिहास गवाह है भारत के साथ पाकिस्तान ने हमेशा की है, इसलिए भारत कभी भी पाकिस्तान पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं कर सकता। आपको याद दिला दूं कि वर्ष 1965 में तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री काहिरा लौटते वक्त पाकिस्तान के उस वक्त के राष्ट्रपति अयूब खान से वार्ता के लिए कराची में रुक गए थे। लेकिन इसके बावजूद हमने देखा कि किस तरह पाकिस्तान ने उसी वर्ष भारतीय सीमाओं पर हमले किए, जो पाकिस्तान की कायराना हरकत को दर्शाती है। 1962 मे हुए भारत चीन युद्ध में बुरी तरह हार के 3 वर्ष पश्चात पाकिस्तान द्वारा किए गए इस हमले में भारत को काफी चोट पहुंचाई, लेकिन भारत की आर्म्ड फोर्स ने अपनी अदम्य साहस दिखाते हुए, इस युद्ध को मात्र 22 दिनों में जीत ली।

19 फरवरी 1999 को तभी प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई ने दिल्ली और लाहौर के बीच “ सदा – ए सरहद ” नामक बस सेवा शुरू की थी, और खुद उस बस में सवार होकर लाहौर गए थे लेकिन हमने देखा की किस तरह पाकिस्तानी आर्मी ने आतंकवादियों के साथ मिलकर कारगिल पर हमले किए । यह युद्ध 2 महीना और 3 सप्ताह चले थे जिसमें तकरीबन हमने 600 बहादुर जवान खोए, और अंततः कारगिल पर हमारा पूर्ण कब्जा हुआ । इस तरह के कई और उदाहरण है, जो पाकिस्तान के नीतियों को दर्शाता है।

2014 में मोदी सरकार आने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ताओं पर एक तरह से रोक लग गई , क्योंकि मोदी सरकार का मानना था कि आतंकवाद और वार्ता दोनों एक साथ नहीं हो सकते। साथ ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी दोनों एक साथ कह चुके हैं कि भारत के साथ तब तक बातचीत संभव नहीं जब तक जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 को पुनः बहाल नहीं किया जाए।

कुल मिलाकर निष्कर्ष यह है कि भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्ते तब तक सही नहीं हो सकते , जब तक की पाकिस्तान आतंकवाद को आश्रय देना नहीं छोड़ता। इसके पश्चात भी अगर कोई देश दो मुल्कों के बीच मध्यस्थता की बात करता है तो यह उनकी नासमझी है! और कुछ नहीं।  Mediating Between India And Pakistan

Note: – We give such articles daily through our website liveyojana.com , so you must follow our website.

If you liked this information then like it and share it…

Thank you for reading this article till the end…

Posted by ROHIT KUMAR

click-here gif

Bihar lockdown e pass apply  | Bihar Lockdown Vehicle Movement Pass| lockdown curfew pass apply Bihar

Pradhan Mantri Yojana list 2021, PM Modi schems, Sarkari Yojana 2021

Agricultural Input Subsidy Scheme | Agricultural Input Online Registration | Krishi Input Subsidy Scheme, Krishi Input Apply

Free Solar Panel Installation, earning this by applying solar points.

Leave a Comment