Ration Card New Rules : राशन कार्ड का नया नियम लागू, इन लोगों पर

Ration Card New Rules ration card panchayt rules ration card rules news Ration Card update ration card government rules

राशन कार्ड धारकों के लिए अब अच्छी खबर है। अगर आप भी मुफ्त राशन का लाभ उठाते हैं, तो केंद्र सरकार की तरफ से एक बड़ी जानकारी आ रही है। बताया जा रहा है कि 20 अप्रैल से राशन के नियमों में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। नए नियम 20 अप्रैल से लागू होंगे। अगर आप भी राशन कार्ड धारक हैं और मुफ्त राशन योजना का लाभ उठा रहे हैं, तो आपको इस नए नियम के बारे में जानना चाहिए। यह नया नियम कई जगहों पर, 269 जिलों सहित लागू होगा।

Ration Card New Rules 

अगर आप भी राशन कार्ड ( Ration Card ) धारक हैं तो यह खबर आपके बहुत काम की है। सरकार द्वारा कुछ शर्तों के तहत राशन कार्ड सरेंडर करने का नियम ( Ration Card Rules ) बनाया गया है। इन नियमों की अनदेखी करना आपको महंगा पड़ सकता है और आप पर जुर्माना भी लगाया जा सकता है। इतना ही नहीं आपके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है ।

“राशन कार्ड (Ration Card) के नए नियम तय किए गए हैं। दरअसल, कोरोना महामारी के दौरान सरकार ने गरीब परिवारों को मुफ्त राशन देना शुरू किया था। सरकार द्वारा शुरू की गई यह व्यवस्था आज भी गरीब परिवारों के लिए लागू है। लेकिन सरकार को इस बात का संज्ञान हुआ है कि कई राशन कार्ड धारक इसके लिए पात्र नहीं हैं और उन्हें मुफ्त राशन दिया जा रहा है। इसके अलावा, कई राशन कार्ड धारक इस योजना से वंचित रह रहे हैं।”

मार्च 2024 तक पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा

आपको बता दें कि सरकार ने बताया है कि फोर्टिफाइड (पोषक तत्वों से भरपूर) चावल का वितरण सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से किया जा रहा है. यह सुविधा देश के कई जिलों में शुरू की जा चुकी है। इसके साथ ही मार्च 2024 तक इसे सभी जिलों में लागू कर दिया जाएगा।

केंद्रीय खाद्य मंत्री ने दी जानकारी

केंद्रीय खाद्य सचिव संजीव चोपड़ा द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक राजस्थान के कई जिलों में 20 अप्रैल से इसे लागू किया जा रहा है. पीएम मोदी ने जानकारी देते हुए बताया था कि सरकारी योजनाओं के माध्यम से पोषाहार का वितरण किया जाएगा. इसी वजह से सरकार ने फोर्टिफाइड चावल बांटने का फैसला किया है।

महिलाओं में एनीमिया की समस्या दूर होगी

आपको बता दें कि केंद्र सरकार के इस फैसले से बच्चों और महिलाओं में खून की कमी की समस्या दूर हो जाएगी. इसके साथ ही अक्टूबर 2021 में चरणबद्ध तरीके से सूक्ष्म पोषक तत्वों वाले फोर्टिफाइड चावल के वितरण की योजना शुरू की गई थी।

वसूल किया जाएगा

जानकारी के मुताबिक अगर राशन कार्ड ( Ration Card ) सरेंडर नहीं किया गया तो ऐसे लोगों का कार्ड स्क्रूटनी के बाद रद्द कर दिया जाएगा. साथ ही उस परिवार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं जब से वह राशन ले रहे हैं, राशन की भी वसूली की जाएगी।

ये लोग हैं सरकारी राशन के लिए अपात्र 

जिन परिवारों के पास मोटरकार, ट्रैक्टर, एसी, हार्वेस्टर, 5 केवी या अधिक क्षमता का जनरेटर, 100 वर्ग मीटर प्लॉट या घर, पांच एकड़ से अधिक भूमि, एक से अधिक शस्त्र लाइसेंस, आयकर दाता, ग्रामीण क्षेत्र में पारिवारिक आय 2 लाख 3 लाख रुपये प्रति वर्ष और शहरी क्षेत्रों में रहने वाले परिवार राशन कार्ड ( Ration Card ) के लिए पात्र नहीं हैं।

लोगों से अपील

राशन कार्ड ( Ration Card ) कार्ड नहीं बन रहे हैं। ऐसे में सरकार की ओर से लोगों से अपील की गई है कि अपात्र लोग राशन कार्ड सरेंडर कर दें. इससे गरीब परिवारों के कार्ड बनाए जा सकते हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ राशन कार्ड सरेंडर ( Ration Card Surrender ) नहीं करने पर कार्रवाई की जा सकती है।

Ration Card के तहत 80 करोड़ लोग ले रहे लाभ

खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के अनुसार, वर्तमान में देश भर में 80 करोड़ लोग राशन कार्ड ( Ration Card ) का लाभ उठा रहे हैं। इनमें कई ऐसे लोग भी हैं जो आर्थिक रूप से संपन्न हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए सार्वजनिक वितरण मंत्रालय मानकों में बदलाव करने जा रहा है। ताकि जरूरतमंद लोग इसका गलत तरीके से इस्तेमाल न करें।

Ration Card Latest Update

इस संबंध में खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग ने कहा कि मानकों में बदलाव को लेकर राज्यों के साथ बैठक की जा रही है. राज्यों द्वारा दिए गए सुझावों को शामिल करते हुए पात्रों के लिए नए मानक तैयार किए जा रहे हैं। नए मानक के लागू होने के बाद पात्र व्यक्तियों को ही लाभ मिलेगा, अपात्र लोगों को राशन कार्ड ( Ration Card ) का लाभ नहीं मिल पाएगा। यह बदलाव जरूरतमंदों को ध्यान में रखकर किया जा रहा है।

One Nation One Ration Card Scheme

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के अनुसार, ‘एक राष्ट्र, एक राशन कार्ड (ONORC) योजना’ अब तक 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लागू की गई है। इस Ration Card Scheme का लाभ करोड़ों लाभार्थी यानी एनएफएसए के अंतर्गत आने वाली 86 प्रतिशत आबादी लाभ उठा रही है। हर महीने करीब 1.5 करोड़ लोग एक जगह से दूसरी जगह जाने का फायदा उठा रहे हैं ! ऐसे में ये सभी परिवार अपना नया राशन कार्ड ( Ration Card ) बनवा सकतें है.

देश में फोर्टिफाइड चावल का उत्पादन 17 लाख टन है।

खाद्य सचिव ने कहा, ‘हमने अब तक 269 जिलों में पीडीएस (राशन की दुकानों) के जरिए फोर्टिफाइड चावल का वितरण शुरू किया है. जिस गति से हम आगे बढ़ रहे हैं, शेष जिलों को समय सीमा से पहले योजना के दायरे में लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश में करीब 735 जिले हैं, जिनमें से 80 फीसदी से ज्यादा आबादी चावल खाती है। देश में फोर्टिफाइड चावल पर्याप्त मात्रा में है, क्योंकि इस समय इस चावल की उत्पादन क्षमता करीब 17 लाख टन है.

सारांश (Summary)

तो दोस्तों आपको कैसी लगी यह  Ration Card New Rules कि जानकारी तो हमें कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें और अगर आपका इस लेख से जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें जरूर बताएं। और दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे लाइक और कमेंट करें और दोस्तों के साथ शेयर भी करें।

Disclaimer: दोस्तों, हमारी वेबसाइट (liveyojana.Com) सरकार द्वारा चलाई जाने वाली वेबसाइट नहीं है,ना ही किसी सरकारी मंत्रालय से इसका कुछ लेना देना है | यह ब्लॉग किसी व्यक्ति विशेष द्वारा द्वारा चलाया गया है। हमारी पूरी कोशिश रहती की एकदम सटीक जानकारी अपने पाठकों तक पहुँचाया जाए।

लेकिन लाख कोशिशों के बावजूद भी गलती की सम्भावना को नकारा नहीं जा सकता। इस ब्लॉग के हर आर्टिकल में आधिकारिक वेबसाइट की जानकारी दी जाती है। हमारा सुझाव है कि हमारा लेख पढ़ने के साथ-साथ आप आधिकारिक वेबसाइट से भी  जानकारी जरूर लीजिये । अगर किसी लेख में कोई त्रुटि लगती है तो आपसे आग्रह है कि हमें जरूर बताएं।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…!!

Posted By-Govinda Rauniyar

ration card panchayt rules ration card panchayt rules  ration card panchayt rules ration card panchayt rules ration card rules news ration card rules news ration card rules news ration card rules news Ration Card update Ration Card update Ration Card update Ration Card update ration card government rules ration card government rules ration card government rules ration card government rules

ration card panchayt rules

FAQS? Ration Card New Rules 

✅राशन कार्ड का नया कानून क्या है?

Ans, राशन कार्ड हेतु आवेदन कर रहे व्यक्ति की उम्र 18 वर्ष या उससे अधिक होना चाहिए। परिवार के 18 वर्ष से कम सदस्यों का नाम उनके माता – पिता के राशन कार्ड में शामिल होगा। परिवार के मुखिया के नाम पर राशन कार्ड बनेगा। परिवार के अन्य सभी सदस्यों का नाम राशन कार्ड में शामिल होगा।

✅क्या भारत में राशन कार्ड अनिवार्य है?

Ans, नहीं, राशन कार्ड भारत में एक स्वैच्छिक दस्तावेज है । तथापि, गरीबी रेखा के नीचे जीवन व्यतीत करने वाले लोगों के लिए यह एक अमूल्य साधन है। यह उन्हें सस्ती दरों पर बुनियादी जीवनयापन के लिए आवश्यक खाद्य पदार्थ प्राप्त करने में मदद करता है।

✅राशन कार्ड क्यों काटे जा रहे हैं?

Ans, लेकिन कभी ऐसा भी होता है कुछ परिवार समय पर वेरफिकेशन नहीं करवा पाते या जरुरी दस्तावेजों को जमा नहीं कर पाते जिसके कारण उनका नाम राशन कार्ड से हट जाता है। राशन कार्ड से नाम कट जाने के बाद क्या करना चाहिए इसकी जानकारी अधिकांश लोगों को नहीं है। जिसके कारण पात्र होते हुए भी वे परिवार राशन कार्ड के लाभ से वंचित हो जाते है।

✅भारत में राशन कार्ड के लिए कौन पात्र नहीं हैं?

Ans, जिस परिवार में कोई भी सदस्य रुपये से अधिक कमाता है। एक महीने में 10,000 (ग्रामीण क्षेत्र) और रु। 15,000 (शहरी क्षेत्र)। नियमित कर्मचारी वाले परिवार – केंद्र सरकार, राज्य सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, सरकारी सहायता प्राप्त स्वायत्त निकायों और स्थानीय निकायों के राजपत्रित या अराजपत्रित।

✅राशन कार्ड किसका नहीं बन सकता है?

Ans, ऐसे परिवार या व्यक्ति जिनके पास 10 वर्ग मीटर से अधिक जमीन, चार पहिया वाहन तथा शहरी क्षेत्र के लोगो की वार्षिक आय 3 लाख व ग्रामीण क्षेत्र लोगो की वार्षिक आय 2 लाख से ऊपर है तब की स्थिति में राशन कार्ड नहीं बन सकता है।

✅उत्तर प्रदेश में राशन कार्ड के नए नियम क्या है?

Ans, यदि आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते है, और आपकी मासिक आय 16,667 रूपय से अधिक है यानी सालना रुपए दो लाख से अधिक है, तो आप राशन कार्ड के लिए पात्र नहीं हुआ। यदि आप शहरी क्षेत्र के निवासी है और आपको मासिक आय रुपए पच्चीस हजार है, यानी वार्षिक आय के हिसाब से रुपए तीन लाख से अधिक है, तो आप राशन की के लिए अपात्र है।

Amar Kumar is a graduate of Journalism, Psychology, and English. Passionate about communication - with words spoken and unspoken, written and unwritten - he looks forward to learning and growing at every opportunity. Pursuing a Post-graduate Diploma in Translation Studies, he aims to do his part in saving the 'lost…

This is a new paragraph added to the author box.

Leave a Comment